जिलाधिकारी की अध्यक्षता में डिस्ट्रिक्ट प्रोजेक्ट मॉनिटरिंग ग्रुप की बैठक

728x90
Spread the news

मुजफ्फरपुर/बिहार : जिलाधिकारी प्रणव कुमार की अध्यक्षता में डिस्ट्रिक्ट प्रोजेक्ट मॉनिटरिंग ग्रुप की बैठक समाहरणालय सभाकक्ष में की गई। बैठक में लंबित विकास योजनाओं की समीक्षा की गई एवं योजनाओं का क्रियान्वयन स- समय करने हेतु संबंधित विभागों के पदाधिकारियों को सख्त निर्देश दिए गए।

एनटीपीसी कांटी से संबंधित ऐश पाइपलाइन परियोजना की समीक्षा के क्रम में बताया गया कि माधोपुर दुल्लम उर्फ़ ढेभहा, रामपुर लख्मी, अकुराहा खरगी एवं गौसी छपरा के ग्रामीण मुआवजा लेने से इंकार कर रहे हैं, जबकि उन्हें इस संबंध में कई बार नोटिस का तामिला कराया गया है। जिला भू अर्जन पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि उन्हें पुनः नोटिस दी जा रही है 8 और 9 सितंबर को तारीख निर्धारित की गई है। यदि उक्त तारीख को वे मुआवजा नहीं लेंगे तो मुआवजा के समरूप राशि भू अर्जन प्राधिकार में जमा कर दिया जाएगा।

वहीं मेकअप वाटर पाइप लाइन परियोजना से सम्बंधित जानकारी दी गई कि अंचल अधिकारी कांटी द्वारा 0.8425 एकड़ भूमि का एलपीसी एवं सत्यापन प्रतिवेदन नहीं दिया गया है। निर्देश दिया गया कि संबंधित अधिकारी अंचल अधिकारी एवं डीसीएलआर से समन्वय स्थापित करते हुए एलपीसी मामले को रिजॉल्व कराएं तत्पश्चात मूल्यांकन का कार्य किया जाएगा।

बैठक में कार्यपालक अभियंता ग्रामीण कार्य विभाग कार्य प्रमंडल पूर्वी 1-2 एवं पश्चिमी से बाढ़ के कारण क्षतिग्रस्त हुए पथों/सड़कों को प्राथमिकता के आधार पर मरम्मती करने से संबंधित समीक्षा की गई। संबंधित कार्यपालक अभियंताओं द्वारा बताया गया जहां पानी उतर गया है, वहां मरम्मती की जा रही है। कार्यपालक अभियंता पूर्वी-01 द्वारा बताया गया कि 57 सड़कें चिन्हित है। 10. 8 किलोमीटर सड़क क्षतिग्रस्त है। वहीं कार्य प्रमण्डल पश्चिमी मुजफ्फरपुर द्वारा बताया गया कि कुल 53 सड़कें बाढ़ से प्रभावित है। जिसके विरूद्ध 26 पर कार्य चल रहा है,  06 पर कार्य बाधित है तथा शेष पर कार्य प्रारम्भ नहीं हुआ है। ग्रामीण कार्य विभाग  कार्य प्रमंडल  पूर्वी-02 द्वारा बताया गया कि 5 प्रखंड में 46 सड़कों की मरम्मती की गई है।ग्रामीण कार्य विभाग कार्य प्रमंडल पूर्वी- 1-2 एवं पश्चिमी मुजफ्फरपुर को निर्देश दिया गया कि वैसे सड़क जो अनुरक्षण अवधि के अधीन है उसकी सूची तैयार कर उसका स्थाई रूप से मरम्मती/पिचिंग कराएं ।साथ ही वैसे सड़क जो अनुरक्षण अवधि के बाहर हैं उनका प्राक्कलन तैयार कर स्वीकृति एवं अतिरिक्त आवंटन हेतु विभाग को शीघ्र भेजना सुनिश्चित करें साथ ही विभाग से समन्वय स्थापित करते हुए आवश्यक कार्रवाई करें।

विद्युत विभाग को निर्देश दिया  गया कि विद्युत  विभाग किसी भी सड़क के किनारे पोल लगाने से पहले उक्त सड़क जिस विभाग की है उसके साथ संयुक्त जांच कर समन्वय स्थापित करते हुए नियमानुसार R O W  क्षेत्र में ही पोल लगाना सुनिश्चित करेंगे।

पथ निर्माण विभाग के समीक्षा के क्रम में मोतीपुर -बरूराज पथ, राजेपुर- करचोलिया पथ, मीनापुर टेंगराहा पथ,लक्ष्मी चौक पथ (मरीन ड्राइव ) पानी टंकी चौक- मिठनपुरा चौक मुख्य सड़क, अखाड़ा घाट- जीरोमाइल सड़क ,गरहा- हथौड़ी पथ में पुल के एप्रोच पथ का निर्माण की समीक्षा की गई एवं निर्देश दिया गया कि स्थानीय अंचलाधिकारी, भू अर्जन कार्यालय, संबंधित डीसीएलआर एवं अनुमंडल पदाधिकारियों से समन्वय स्थापित करते हुए कार्य को पूर्ण कराना सुनिश्चित करेंगे।

  बैठक में एनएचएआई मुजफ्फरपुर के द्वारा बताया गया कि मुजफ्फरपुर- बरौनी एवं मुजफ्फरपुर- सोनबरसा के फोरलेनिग तथा आमस- दरभंगा नया फोर लेन  सड़क निर्माण हेतु प्राक्कलन तैयार किया जा रहा है।परियोजना निदेशक द्वारा बताया गया कि मधौल -काजीइन्दा- द्वारिका नगर- बुद्धनगरा -मझोली दरभंगा रोड तक नया फोर लेन सड़क निर्माण हेतु विभाग से अनुमति मिली है। इसका प्राक्कलन तैयार किया जा रहा है।

बैठक में इसके अतिरिक्त बिहार राज्य पुल निर्माण निगम लिमिटेड, नई रेल परियोजना, बुडको इत्यादि संबंधित इत्यादि से संबंधित योजनाओं की भी समीक्षा की गई एवं इसके ससमय क्रियान्वयन के मद्देनजर आवश्यक निर्देश जिलाधिकारी के द्वारा दिए गए।

 बैठक में उप विकास आयुक्त चंदन चौहान, अनुमंडल पदाधिकारी पूर्वी कुंदन कुमार, जिला योजना पदाधिकारी, जिला भूअर्जन पदाधिकारी मो उमैर, परियोजना निदेशक एनएचएआई, विभिन्न तकनीकी विभागों के कार्यपालक अभियंता, डीपीओ आईसीडीएस, डीपीआरओ कमल सिंह और विकास शाखा के प्रभारी पदाधिकारी उपस्थित थे।

अंजुम शहाब
ब्यूरो
मुजफ्फरपुर

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें