कोरोना नियम का पालन नहीं करने वालों को पड़ती है ऑक्सीजन की आवश्यकता – डॉ परवेज अख्तर

Photo : www.therepublicantimes.co
728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : कोरोना संक्रमण से बचाव बिल्कुल आसान है, घबराएं नहीं. कई लोग कोरोनो जांच कराने से यह कह कर टाल देते हैं कि मुझे मौसम की वजह से सर्दी, खांसी, बुखार है. ऐसे लोग यह जान लें कि सर्दी, खांसी, बुखार हो या टाइफाइड बुखार या फिर मलेरिया, अभी के समय कोरोना में जो दवाई चलता है, वही दवाई सभी बीमारी में चलता है. उक्त बातें शहर के चर्चित राष्ट्रपति प्रशंसित चर्म रोग चिकित्सक डा परवेज अख्तर ने कही. उन्होंने कहा कि सर्दी, खांसी या बुखार के पहले स्टेज में ही कोरोना संक्रमण का दवा शुरू कर दिया जाय, तो कोई व्यक्ति कोरोना संक्रमण संपर्क भी है तो उसे हम वहीं समाप्त कर सकते हैं. एहतियात बरतना ही कोरोना संक्रमण से बचाव है. मास्क व सोशल डिस्टेंस एवं सरकार के नियमों का पालन करके हम कोरोना संक्रमण से बच सकते हैं.

नियम का पालन नहीं करने वालों को पड़ती है ऑक्सीजन की आवश्यकता :  परवेज अख्तर ने दावा किया है कि अकसर ऑक्सिजन सिलिंडर की आवश्यकता उन्हें पड़ती है, जो सरकार के नियमों का पालन नहीं करते हैं और लापरवाही करते हैं. उन्होंने बताया कि पूर्व उपाय करने वाले कभी भी कोरोना ना संक्रमण की चपेट में नहीं आ सकते हैं. सांस में दिक्कत होने पर या बुखार में डेक्ससोना की दवाई मिल की पत्थर साबित हो रही है. डेक्ससोना ऑक्सीजन की नौबत नहीं आने देता है. डेक्सोना और ऑक्सीजन कोरोना को फेफड़े तक पहुंचने पर हराने के बेहतर उपाय है. साथ ही उन्होंने बताया कि क्लोरोक्वीन फॉस्फेट टेबलेट, जिसे कोरोना के इलाज के लिए भारत ने अमेरिका को दिया था. जिसके कुप्रभाव में हार्ट अटैक भी देखे गए थे. उन्होंने बताया कि इसके विकल्प के लिए पांच नीम का पत्ता एवं पांच कालीमिर्च सुबह शाम चबाकर खाना, गले की खराश, कोरोना, मलेरिया बुखार के लिए मील का पत्थर साबित होगा. नीम का पत्ता एंटीभाईलर, एंटीबायोटिक, एंडफंगल, एवं एंटीएलर्जी के गुणों से संपन्न है.

कोरोना संक्रमण के माइल केस में घर पर भी कर सकते हैं अपना प्रबंधन : डा परवेज के पुत्र चिकित्सा पदाधिकारी डा दानिश अख्तर ने कहा कोरोना संक्रमण के माइल केस में आप घर पर भी अपना प्रबंधन कर सकते हैं. माइल्ड केस में बुखार, गले में खराश, खांसी, नाक से पानी आना, बदन दर्द, सिर दर्द, थकान, पेट में ऐठन, स्वाद या गंध ना पहचानना, लक्षण हैं. साथ ही शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा एसपीओ 94 प्रतिशत से कम हो एवं सांस लेने में तकलीफ हो तो इन सब लक्षणों के आने के बाद आप कोविड -19 की जांच जरूर करायें. वैसे पूर्व उपाय में हर घर में रखें. एजिथ्रोमशीन 500 एमजी टेबलेट, मोन्टीलिव टेबलेट, विटामिन सी 500 एमजी टेबलेट,  मेकबेरी कफ एक्सपेकटोरांट सिरप, आईभरमेकटोल 12 एमजी, डेक्सोना, पोलोबियन एल सिरप, लि 52 टेबलेट का किट बनाकर रखें. आवश्यकता होने और आप डा परवेज अख्तर 9431288464 एवं डा दानिश अख्तर 7979803338 से संपर्क कर सलाह ले सकते हैं.

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें