मधेपुरा : 7 फरवरी को उर्दू के शैक्षिक जागरूकता और संरक्षण पर परामर्शी बैठक- कासमी

www.therepublicantimes.co
फ़ोटो : www.therepublicantimes.co
728x90
Spread the news

प्रेस विज्ञप्ति /

मधेपुरा/बिहार : शनिवार को जिला मुख्यालय स्थित दारुल क़ज़ा मदरसा इस्लामिया में क़ाज़ी शरीयत मधेपुरा की अध्यक्षता में एक बैठक आयोजित की गई, जिसमें 7 फरवरी, 2021 को इमारत-ए-शरिया के द्वारा उर्दू के शैक्षिक जागरूकता और संरक्षण पर आयोजित की जाने वाली परामर्श बैठक की तैयारियों की समीक्षा की गई।
बैठक के दौरान काजी शरीयत, मधेपुरा, मुफ्ती मोहम्मद फैयाज आलम कासमी ने कहा कि मुफक्कीरे इस्लाम हजरत मौलाना सैयद मोहम्मद वली रहमानी, अमीर-ए-शरीयत बिहार ओडिशा और झारखंड के आदेश के अनुसार बिहार के सभी जिलों में जिला मुख्यालय में उर्दू के प्रति शैक्षिक जागरूकता और संरक्षण पर एक परामर्शी बैठक तय की गई है। जिसमें राष्ट्र के जागरूक, ज्ञान-प्रेमी और उर्दू-भाषी लोगों के साथ उर्दू की शिक्षा और सुरक्षा पर गौर व फिक्र कर बुनियादी धार्मिक शिक्षा, आधुनिक शिक्षा की स्थापना के विचार को प्राथमिकता दी जाएगी
उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार ने एक नई शिक्षा नीति तैयार कर और असम में मदरसों को बंद करने के लिए कानून बनाकर उर्दू भाषा और इस्लामी धार्मिक शिक्षण संस्थानों के प्रति अपनी दुर्भावना को स्पष्ट कर दिया है। ऐसी स्थिति में, राष्ट्र के अस्तित्व और इस्लामी पहचान की सुरक्षा के लिए, राष्ट्र के जागरूक, बुद्धिमान और जानकार लोगों को योजनाबद्ध तरीके से कार्य योजना तैयार करनी होगी।
इसी तरह राज्य स्तर से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक उर्दू भाषा, जो न केवल हमारी मातृभाषा है, बल्कि धर्म और तहजीब का भी हिस्सा है, इसे समाप्त करने के लिए की जा रही योजनाबद्ध प्रयासों को रोकने का एकमात्र तरीका हम सभी के लिए इस भाषा के प्रचार के बारे में गंभीर होना और इसे मजबूत तरीके से अपनाना है।
इस संबंध में काजी शरीयत, मधेपुरा, मुफ्ती मोहम्मद फैयाज आलम कासमी ने कहा कि हम सभी विद्वानों, बुद्धिजीवियों, उर्दू के प्रेमियों और मधेपुरा जिले की प्रमुख हस्तियों से अपील करते हैं कि वे 7 फरवरी, 2021 को आयोजित होने वाली परामर्श बैठक में भाग लें और शैक्षिक जागरूकता और संरक्षण उर्दू भाषा आंदोलन का हिस्सा बनें।
इस मौके पर मौलाना मुश्ताक, मौलाना मुस्तक़ीम, हाफिज जाकिर, एडवोकेट इश्तियाक रहमानी, मास्टर अलेमुद्दीन, हाजी अशफाक अहमद, मुहम्मद असलम, सोहेल रहमान, इम्तियाज अहमद, मास्टर शादाब आलम, शाहनवाज अहमद, गुलरेज हसन, कमाल राहमनी, जहूर अहमद, शमशाद आलम, अहमद हुसैन, रजा-उर-रहमान सहित अन्य उपस्थित थे।


Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें