BNMU सिंडिकेट की बैठक संपन्न

728x90
Spread the news

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय के अभिषद (सिंडिकेट) की बैठक शनिवार को विश्वविद्यालय केंद्रीय पुस्तकालय सभागार में बीएनएमयू कुलपति प्रो डा आरकेपी रमण की अध्यक्षता में संपन्न हुई.

कुलपति ने बताया कि 12 जनवरी को अधिषद की बैठक सुनिश्चित है. इसके लिए राज्यपाल सह कुलाधिपति की स्वीकृति प्राप्त हो चुकी है. बैठक में अधिषद की कार्यसूचियों पर भी विचार किया गया एवं आवश्यक निर्णय लिये गये. अधिषद की विभिन्न कार्यसूचियों को मंजूरी दी गई. अधिषद में कुलपति प्रो डा आरकेपी रमण अध्यक्षीय अभिभाषण एवं प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत करेंगे. हिंदी विभागाध्यक्ष डा उषा सिन्हा द्वारा 22 फरवरी 2020 को आयोजित अधिषद की बैठक की कार्रवाई की संपुष्टि प्रस्ताव रखा जायेगा. डीएसडब्लू डा अशोक कुमार यादव 22 फरवरी 2020 को आयोजित अधिषद की बैठक में लिये गये निर्णय का अनुपालन प्रतिवेदन प्रस्तुत करेंगे. भूपेंद्र नारायण मंडल वाणिज्य महाविद्यालय के प्राचार्य डा केएस ओझा वार्षिक प्रतिवेदन (2019-2020) के अनुमोदन का प्रस्ताव रखेंगे. भौतिकी विभागाध्यक्ष डा अशोक कुमार द्वारा वित्तीय वर्ष 2019-2020 के वास्तविक आय-व्यय का लेखा प्रतिवेदन प्रस्तुत किया जायेगा. एमएलटी काॅलेज सहरसा के प्राचार्य डा डीएन साह द्वारा विभिन्न प्राधिकारों, निकायों, समितियों के कार्यवृत का अनुमोदन प्रस्ताव प्रस्तुत किया जायेगा. मैथिली विभाग के पूर्व अध्यक्ष डा रामनरेश सिंह विभिन्न महाविद्यालयों के संबंधन, नवसंबंधन, संबंधन दीर्घीकरण एवं पदसृजन का प्रस्ताव प्रस्तुत करेंगे. कुलानुशासक डा विश्वनाथ विवेका द्वारा अधिषद सदस्यों से प्राप्त प्रश्नों के उत्तर की प्रस्तुति होगी. अंत में लेफ्टिनेंट गौतम कुमार द्वारा शोक प्रस्ताव प्रस्तुत किया जायेेगा.

ये भी पढ़ें : बंधन बैंक लूटकांड में पटना STF को मिली बड़ी कामयाबी, लूटी रकम बरामद कर चार लुटेरों को किया गिरफ्तार

वृक्षों से गिरने वाले पत्तों एवं अन्य कचरों से कम्पोस्ट बनाने की मिली स्वीकृति : इसके पूर्व कुलपति ने सभी सदस्यों का स्वागत किया. बैठक में गत बैठक की संपुष्टि, गत बैठक में लिए गए निर्णय का अनुपालन प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया. इस पर विभिन्न सदस्यों ने गहन विचार-विमर्श किया. सदस्यों ने कहा कि सदन की चर्चा को ठीक तरह से कार्यवृत में अंकित किया जाना चाहिये. अनुपालन प्रतिवेदन पर चर्चा में विभिन्न सदस्यों ने कई महत्वपूर्ण मुद्दे उठाये. सर्वसम्मति से विभिन्न महाविद्यालयों में स्नातकोत्तर की पढ़ाई शुरू करने को सैद्धांतिक सहमति प्रदान की गई, लेकिन स्नातकोत्तर की पढ़ाई के औचित्य एवं उपादेयता की जांच गत सिंडिकेट की बैठक में लिए के आलोक में गठित समिति द्वारा की जायेगी. समिति की रिपोर्ट के आधार पर आवश्यक कदम उठाया जायेगा. प्रति कुलपति प्रो डा आभा सिंह ने प्रस्ताव दिया कि विश्वविद्यालय के वृक्षों से गिरने वाले पत्तों एवं अन्य कचरों से कम्पोस्ट बनाया जाय. इसे सर्वसम्मति से स्वीकृति प्रदान की गई.

ये भी पढ़ें : दो बाइक की आमने-सामने की जोरदार टक्कर में दो युवक घायल

अंत में राष्ट्रीय गान के सामूहिक गायन के साथ बैठक संपन्न हुई. बैठक में प्रति कुलपति प्रो डा आभा सिंह, विधायक गुंजेश्वर साह, डीएसडब्लू डा अशोक कुमार यादव, कुलानुशासक डा विश्वनाथ विवेका, कुलसचिव डा कपिलदेव प्रसाद यादव, हिंदी विभागाध्यक्ष डा उषा सिन्हा, मैथिली विभाग के पूर्व अध्यक्ष डा रामनरेश सिंह, टीपी काॅलेज मधेपुरा के डा जवाहर पासवान, लेफ्टिनेंट गौतम कुमार, भौतिकी विभागाध्यक्ष डा अशोक कुमार, बीएनएमभी काॅलेज मधेपुरा के प्राचार्य डा केएस ओझा, एमएलटी काॅलेज सहरसा के प्राचार्य डा डीएन साह  उपस्थित थे.


Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें