नालंदा : जल जीवन हरियाली दिवस समारोह में जिलाधिकारी ने प्रत्येक माह 3 यूनिट बिजली की बचत करने का दिलाया संकल्प

728x90
Spread the news

विज्ञापन
मुर्शीद आलम
नालंदा ब्यूरो
बिहार

नालंदा/बिहार : जिले में जल जीवन हरियाली अभियान के तहत राज्य सरकार द्वारा प्रत्येक माह के प्रथम मंगलवार को जल जीवन हरियाली दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया है। यह आयोजन सभी सरकारी कार्यालयों, विद्यालयों एवं महाविद्यालयों में किया जा रहा है। शहर के टोन हॉल में जल जीवन हरियाली का प्रथम दिवस का आयोजन किया गया साथ ही साथ जिले के सभी सरकारी कार्यालयों एवं विद्यालयों में किया गया। टाउन हॉल में प्रथम जल जीवन हरियाली दिवस के अवसर पर सौर ऊर्जा उपयोग को प्रोत्साहन एवं ऊर्जा की बचत को बढ़ावा देने के विषय पर चर्चा की गई। जिला स्तरीय कार्यक्रम का शुभारंभ जिला पदाधिकारी योगेंद्र सिंह द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया।

विज्ञापन

इस अवसर पर कला जत्था के कलाकारों द्वारा भी जल जीवन हरियाली पर आधारित गीत संगीत के माध्यम से जागरूकता का संदेश दिया गया। कार्यक्रम में नालंदा जिला निवासी राजीव रंजन द्वारा लिखित जल जीवन हरियाली पर आधारित लघु फिल्म का प्रदर्शन भी किया गया। कार्यक्रम में जिला पदाधिकारी ने अपने संबोधन में सौर ऊर्जा एवं  ऊर्जा बचत के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि जब समाज का प्रत्येक व्यक्ति पर्यावरण संरक्षण को लेकर जागरूक होगा, तभी सही मायने में इस अभियान को सफल बनाया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि आम जीवन में हम छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखकर ऊर्जा की बचत कर सकते हैं। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों को ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशिएंसी मानक के विद्युत संचालित उपकरणों का उपयोग करने को कहा। घर या दफ्तर में जब आवश्यक नहीं हो,  बल्ब/ पंखा /कंप्यूटर/ टीवी आदि विद्युत चालित उपकरणों को स्विच ऑफ करने की आदत डालने की बात कही। इन आदतों से प्रत्येक व्यक्ति घर या दफ्तर में ऊर्जा की बचत कर सकता है। सभी व्यक्तियों द्वारा बचाई गई ऊर्जा का योगफल व्यापक होगा, जिससे काफी मात्रा में ऊर्जा की बचत की जा सकती है।

उन्होंने कहा कि प्रत्येक माह कम से कम 3 यूनिट बिजली की बचत हेतु प्रयास करने का संकल्प दिलाया। जन्मदिन, शादी की सालगिरह आदि जैसे अवसरों पर पौधा भेंट करने की परंपरा बनाई जानी चाहिए। इसी उद्देश्य से आज जिला गव्य विकास पदाधिकारी पंकज पासवान को उनके जन्मदिन के अवसर पर जिला पदाधिकारी ने एक पौधा भेंट किया। कार्यक्रम में जल जीवन हरियाली के नोडल पदाधिकारी -सह- निदेशक डीआरडीए संतोष श्रीवास्तव ने भी अक्षय ऊर्जा की महत्ता एवं ऊर्जा बचत की उपयोगिता के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी दी तथा लोगों को इसके लिए प्रेरित भी किया।

 इस अवसर पर उप विकास आयुक्त, निदेशक डीआरडीए, जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी, अनुमंडल पदाधिकारी बिहार शरीफ, जिला शिक्षा पदाधिकारी सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय पदाधिकारी एवं जिला स्तरीय विभिन्न कार्यालयों के कर्मीगण उपस्थित थे। इस तरह जिला का प्रथम जल जीवन हरियाली सफलतापूर्वक संपन्न हुआ।


Spread the news