शाहीनबाग-मधेपुरा : अंग्रेजों के चेले रच रहे हिन्दू-मुस्लिम की राजनीति का गन्दा खेल-जयंत जिज्ञासु

728x90
Spread the news

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : मधेपुरा का मस्जिद चौक लगातार ग्यारह  दिनों से चल रहे आंदोलन के कारण मधेपुरा के शाहीनबाग के रूप में स्थापित हो रहा है। हर बढ़ते दिन के साथ धरना निरन्तर मजबूती को प्राप्त कर रहा है।

शनिवार को देर शाम आंदोलन को समर्थन देने पहुंचे जेएनयू दिल्ली के छात्र राजद के पूर्व अध्यक्ष प्रत्याशी जयंत जिज्ञासु  ने धरने पर बैठी बड़ी संख्या में औरतों के जज्बे को सलाम किया और सरकार को चेताया कि जब आधी आबादी सड़क पर आ गई है तो अब सरकार की खैर नहीं। उन्होंने कहा कि वर्तमान हालात काफी गम्भीर है । आजादी के पहले से भी विषम दौर आ गया है।

देखें वीडियो :

उन्होंने कहा कि यह अफसोसनाक है कि अपने ही देश में हमसे प्रमाण मांगने की साज़िश रची जा रही है, जिसे हम किसी कीमत पर सफल नहीं होने देंगे । देश में शिक्षा को प्रमुखता देने के बजाय जाति धर्म का गन्दा खेल खेला जा रहा है। अनेकता में एकता का पैग़ाम देने वाले हिन्दुस्तान में आरएसएस के लोग विभाजन की साजिश रचने लगे हैं जिसे पूरे मुल्क में मुंहतोड़ जबाव दिया जा रहा है। हिन्दू-मुस्लिम एक ही शरीर के दो अभिन्न अंग हैं। उन्होंने कहा की यह मुल्क सबका है इसको लेकर बखेड़ा खड़ा करने के बजाय विकास कि बात होनी चाहिए जो सरकार को नजर नहीं आता। वहीं अपने संबोधन में उन्होंने लोगों को हिन्दू मुस्लिम की राजनीति करने वालो को नसीहत देने की बात कही।

धरना को संबोधित करते हुए डॉ अमित ने कहा कि देश के औरतों का सड़क पर आना यह दर्शाता है कि सबकुछ ठीक नहीं चल रहा । सरकार को अविलंब अपने बेतुके फैसले को वापस लेना चाहिए। सीनेट, सिंडीकेट सदस्य डॉ जवाहर पासवान ने कहा कि इस धरना का व्यापक असर सामने आ रहा है कुछ लोगों की नींद हराम हो गई है जो इसको बदनाम करने का मंसूबा पाले हुए थे।

कार्यक्रम को विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधियों सहित अन्य ने भी संबोधित किया । मौके पर बड़ी तादाद में पुरुष महिलाओं की भागीदारी रही।


Spread the news