मधेपुरा : गर्ल्स हॉस्टल में किसी योग्य अधीक्षक को मिले जिम्मेदारी-राठौर

Spread the news

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : AISF के राष्ट्रीय परिषद सदस्य सह विश्वविद्यालय प्रभारी हर्ष वर्धन सिंह राठौर ने शनिवार को बीएनएमयू कुलपति प्रो अवध किशोर राय से उनके कार्यालय में मुलाकात कर एक मांगपत्र सौंपा।

सौंपे मांगपत्र में वाम छात्र नेता राठौर ने कुलपति से मांग किया कि  गर्ल्स हॉस्टल में अधीक्षक की जिम्मेदारी किसी योग्य को मिले ऐसे लोगों को जिम्मेदारी न मिले जिससे विवाद जुड़ा हो, क्योंकि गर्ल्स हॉस्टल का शुरू होना एक गंभीर उपलब्धि है। राठौर ने सौंपे मांगपत्र में यह भी दर्शाया की वर्षों पहले जब हॉस्टल शुरू हुआ था तब अधीक्षक के साथ कई विवाद जुड़े और उसका खामियाजा लगातार हॉस्टल का बन्द रहना साबित हुआ।

विज्ञापन

कुलपति से वार्ता के क्रम में राठौर ने विश्वविद्यालय में पी एच डी वर्क कोर्स में कई विषयों में बिना सिलेबस की हो रही पढ़ाई पर बात करते हुए कहा कि बिना सिलेबस पढ़ाई का क्या औचित्य ? यह छात्रों को गुमराह करने जैसा है। राठौर ने मांग किया कि अविलंब सिलेबस तैयार और पास कर वर्क कोर्स की पढ़ाई सुचारू रूप से शुरू किया जाए। छात्र नेता राठौर ने आगाह करते हुए कहा कि अगर अविलंब वर्क कोर्स के सिलेबस को गंभीरता से नहीं लिया गया तो सूबे में सबसे पहले प्री पी एच डी की परीक्षा लेने वाला विश्वविद्यालय सबसे पीछे हो जाएगा जिसका खामियाजा यहां के छात्रों को भुगतना पड़ेगा। । वहीं राठौर ने कुलपति से मांग किया की अभी तक विश्वविद्यालय में संगीत व नाट्य की पढ़ाई शुरू नहीं हुई जबकि कुलपति ने दो वर्ष पूर्व ही अगले सत्र से पढ़ाई शुरू करवाने का आश्वाशन दिया था।

विज्ञापन

उन्होंने कहा कि कोसी संगीत और नाट्य के क्षेत्र में अपार संभावना है, यहां की अनेकों प्रतिभा बड़े स्तरों पर स्थापित है ।अगर यहां पढ़ाई शुरू होती है तो नाट्य व संगीत की प्रतिभा को उड़ान भरने में सुविधा ही नहीं होगी बल्कि विश्वविद्यालय को नैक से मान्यता में फायदा भी होगा । इस दौरान छात्र नेता राठौर ने उम्मीद जताई कि 26 जनवरी तक हर हाल में गर्ल्स हॉस्टल को शुरू कर दिया जाएगा।


Spread the news
advertise