मधेपुरा : आज की शिक्षा व्यवस्था भारतीय जनमानस को तार-तार कर दिया है- डा वीके ओझा

728x90
Spread the news

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के जिला इकाई द्वारा टीपी कॉलेज परिसर में स्वामी विवेकानंद जयंती के अवसर पर सभी अतिथियों ने राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की विधिवत शुरुआत किया।

मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत किये प्रदेश उपाध्यक्ष डा वीके ओझा ने छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए कहां की स्वामी विवेकानंद ने कहा कि “उत्तिष्ठत जाग्रत प्राप्य वरान्निबोधत” अर्थात् उठो, जागो, और ध्येय की प्राप्ति तक रूको मत। सिर्फ राष्ट्र की शिक्षा देने का और मेरी सारी शिक्षा वेदों के उन महान सत्यों पर आधारित है जो हमें समानता और आत्मा की सर्वत्रता का ज्ञान देती है। लेकिन आज की शिक्षा व्यवस्था भारतीय जनमानस को तार-तार कर दिया है। भारतीय शिक्षा पद्धति को अपनाना पड़ेगा तब जाकर भारत विश्व गुरु बनेगा। जिला प्रमुख दिलीप कुमार एवं प्रदेश कार्यसमिति सदस्य डा ललन प्रसाद अद्री ने कहा कि सफलता के तीन आवश्यक अंग हैं, शुद्धता, धैर्य एवं दृढ़ता।  लेकिन इन सबसे बढ़कर जो आवश्यक है, हम ऐसी शिक्षा चाहते हैं जिससे चरित्र निर्माण हो,मानसिक शक्ति का विकास हो। ज्ञान का विस्तार हो एवं जिससे हम खुद के पैरों पर खड़े होने में सक्षम बन पाएंगे।

विज्ञापन

प्रदेश कार्यसमिति सदस्य सह सिंडिकेट सदस्य डा राजेंद्र यादव एवं प्रदेश कार्यसमिति सदस्य सह सीनेट सदस्य रंजन यादव ने कहा कि नोबेल पुरस्कार से सम्मानित रवीन्द्रनाथ ठाकुर ने एक बार कहा था कि ‘यदि आप भारत को जानना चाहते हैं तो विवेकानंद को पढ़िए। उनमें आप सब कुछ सकारात्मक ही पाएंगे, नकारात्मक कुछ भी नहीं। शिक्षा जीवन के लिए एवं जीवन वतन के लिए होना चाहिए। मंच संचालन प्रदेश कार्यसमिति सदस्य आमोद आनंद ने किया एवं धन्यवाद ज्ञापन नगर सह मंत्री सौरभ कुमार यादव ने किया।

विज्ञापन

मौके पर जिला संगठन मंत्री उपेंद्र कुमार भरत, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य दिलीप कुमार दिल एवं सागर कुमार, पूर्व मिशन साहसी अध्यक्ष पल्लवी कुमारी, विश्वविद्यालय छात्रा प्रमुख श्वेता शिवम, बीएड विभाग के शिक्षक अभिषेक कुमार शाह, नगर छात्रा प्रमुख प्रेरणा शल्या, टीपी कॉलेज महासचिव प्रतिज्ञा रुचि, कोमल कुमारी, मोनी कुमारी, करुणा कुमारी, कार्यालय सह मंत्री ललित कुमार, नगर सह मंत्री चंदन कुमार एवं विश्वजीत पीयूष, बंटी कुमार, साइंस कुमार यादव समेत अन्य अभाविप कार्यकर्ता मौजूद थे।


Spread the news