मधेपुरा : सीएए और एनआरसी समाज को बांटने वाला कानून-उमाकांत सिंह

Spread the news

कौनैन बशीर
वरीय उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : देशव्यापी बंद को लेकर बुधवार को भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी कार्यकर्ताओं ने जिले के उदाकिशुनगंज अनुमंडल मुख्यालय के थाना चौक के पास सड़क जाम कर प्रदर्शन किया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने प्रखंड कार्यालय को बंद करा दिया। वही कार्यकर्ताओं ने भारतीय स्टेट बैंक शाखा के मुख्य द्वार पर ताला जड़कर विरोध प्रदर्शन किया।

विज्ञापन

इस दौरान कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी कर सीएए और एनआरसी  कानून को समाज बांटने वाला बताया। साथ ही देश में बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ कार्यकर्ताओं ने भरास निकाला। इसके लिए केंद्र सरकार को जबावदेह ठहराया। सड़क पर उतरे बंदी कार्यक्रम की अगुवाई कर रहे भाकपा के उदाकिशुनगंज अंचल मंत्री उमाकांत सिंह ने कहा कि देश में सीएए और एनआरसी जैसे नए कानून समाज को बांटने वाला है। इससे देश में भाईचारा और सहिष्णुता का वातावरण खत्म हो जाएगा । सरकार को चाहिए कि कानून लागू नहीं करें। ताकि देश में भाईचारा का वातावरण बना रहे । भाकपा के वरिष्ठ नेता कामरेड मोती सिंह ने कहा कि देश में महंगाई और बेरोजगारी चरम पर है । केंद्र सरकार महंगाई पर नियंत्रण नहीं कर पा रही है । वहीं लाखों बेरोजगारों को रोजगार नहीं मिल पा रहा है। बेरोजगारी के कारण देश के युवा भटक रहे हैं।  उन्होंने बढ़ते अपराध और भ्रष्टाचार के लिए सीधे तौर पर सरकार को जिम्मेदार ठहराया।

विज्ञापन

 इस मौके पर मोहम्मद चांद, सचिता शर्मा, मोहम्मद सुलेमान, विद्यानंद पंडित, सुरेश चौधरी, हलधर शर्मा, अरुणा देवी, सिकंदर राम, शिव शंकर प्रधान, विमला देवी, गायत्री देवी, बालदेव ऋषिदेव, सीताराम ऋषिदेव, आदि मौजूद थे।


Spread the news
advertise