दरभंगा : न्यू ईयर सेलिब्रेशन के अवसर पर डीएमसी छात्रों के द्वारा पार्टी में गोली चलने से हुई अफरा-तफरी

Spread the news

ज़ाहिद अनवर (राजु)
उप संपादक

दरभंगा/बिहार : नव वर्ष के आगमन पर चारो तरफ जशन मनाने की खबर आ रही है। इसी बीच दरभंगा चिकित्सा महाविद्यालय में छात्रों ने वर्ष 2019 को लेकर एक  अलविदा पार्टी का भी आयोजन किया था। इसी बीच अचानक गोलियों की आवाज से पार्टी में अफरा-तफरी मच गयी। संयोग था कि गोली किसी छात्र को नहीं लगी। न्यू ईयर के आगमन पर मनाए जा रहे जश्न में अचानक गोली चली और अफरा-तफरी की स्थिति हो गई।

हालांकि छात्रों ने गोली चलाने वाले एक युवक को दबोच लिया। इसके बाद उसकी जमकर धुनाई कर दी। बाद में उसे डीएमसीएच में भर्ती कराया गया। पकड़े गए आरोपी के पास से एक पिस्टल भी बरामद किया गया है। पुलिस ने घटनास्थल से दो खोखा भी बरामद किया है। पकड़ा गया आरोपित हॉस्पिटल रोड निवासी उमेश प्रसाद सिंह के पुत्र सत्य प्रकाश सिंह बताया जा रहा है। उसके निशानदेही पर अन्य लोगों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस मामले को लेकर छात्र नारायण डालमिया, सत्यपाल सिंह ने बेंता ओपी में शिकायत दर्ज कराई है। घटना के संबंध में बताया जाता है कि बास्केटबॉल मैदान में मंगलवार की देर रात सभी छात्र जश्न मना रहे थे। इसी बीच 6-7 की संख्या में बाहरी युवक पार्टी में शामिल हो गए और वह लोग भी पार्टी में नाच गान करने की कोशिश करने लगे। देखते ही देखते विरोध होना शुरू हुआ और बाहरी युवकों को बाहर जाने को कहा गया।

विज्ञापन

इसी बीच जान मारने की नियत से सत्य प्रकाश सिंह ने अपनी पिस्टल से दनादन 2-3 फायरिंग कर दी। इसके बाद अफरा-तफरी की स्थिति हो गई, गोली की आवाज सुनते ही हॉस्टल में रह रहे अन्य छात्र भी पहुंच गए और सभी आरोपितों को खदेड़ना शुरू कर दिया। इसी क्रम में डीएमसीएच के सर्जरी विभाग में कार्यरत सत्य प्रकाश सिंह गिर गया और उसके हाथ से पिस्टल भी छूट गयी। तब तक छात्रों ने सत्य प्रकाश को दबोच लिया और जमकर धुनाई कर दी। छात्रों ने सत्य प्रकाश को पिस्टल सहित पुलिस के हवाले कर दिया। हालांकि अन्य आरोपित भागने में कामयाब रहे। सत्य प्रकाश सिंह शराब के नशे में पाया गया है। बेंता ओपी प्रभारी ने प्राथमिकी दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।


Spread the news
advertise