मधेपुरा : राठौर दम्पत्ति ने पैट में मारी बाजी, एक साथ करेंगे पीएचडी

Spread the news

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

हर्ष वर्धन और प्रसन्ना की सफलता पर लोगों ने दी बधाई, परिवार में खुशी की लहर 

मधेपुरा/बिहार : बीएनएमयू के छात्र रहे हर्ष वर्धन सिंह राठौर और उनकी पत्नी प्रसन्ना सिंह राठौर ने एक साथ विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित पैट की परीक्षा में सफलता प्राप्त कर अपने परिवार संग समाज को गौरवान्वित किया है। जून में लिखित परीक्षा और उसके बाद मौखिकी के आधार पर तैयार हुई मेधा सूची में दोनों ने स्थान प्राप्त किया और एक साथ पीएचडी की तैयारी शुरू करने का अनोखा गौरव प्राप्त किया।

 राठौर दम्पत्ति के लिए यह उपलब्धि इस लिए भी खास है, क्योंकि दोनों एक साथ इसकी तैयारी करेंगे। हर्ष वर्धन सिंह राठौर और प्रसन्ना सिंह राठौर दोनों छात्र जीवन से ही मेधावी रहे हैं। जहां हाई स्कूल के समय से ही राठौर पढ़ाई के साथ साथ वक्तृता, उद्घोषणा, साहित्य के दोनों विधाओं सहित अन्य कई क्षेत्रों में लगातार अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाते रहे हैं।  जिसके लिए कई अवसरों पर कॉलेज एवं विश्वविद्यालय द्वारा उन्हें सम्मानित भी किया गया। वर्तमान में कई पत्रिकाओं में संपादक मंडल के सदस्य भी हैं। वहीं दूसरी तरफ प्रसन्ना सिंह राठौर सुपौल नवोदय की छात्रा रही हैं और नवोदय के दिनों से ही भाषण, कहानी लेखन, उद्घोषणा, एनसीसी, स्काउट गाइड, विज्ञान प्रदर्शनी सहित अन्य क्षेत्रों में विद्यालय से लेकर प्रांतीय स्तर तक अपनी मेधा का जौहर दिखाया। दोनों ने बीएनएमयू से ही एमए तक की पढ़ाई पूरी की। वर्ष 2018 में वैवाहिक सम्बन्ध में बढने के बाद भी पढ़ाई का सफर जारी रहा।

मूलतः सिंघेश्वर प्रखंड के बैहरी पंचायत के कतराहा निवासी राठौर दम्पत्ति ने कहा कि पीएचडी करने के बाद भी पढ़ाई का सफर जारी रहेगा। दोनों ने अपनी सफलता का श्रेय अपने गुरुजनों के सफल मार्गदर्शन के साथ परिवार के अटूट सहयोग एवं मित्रों के स्नेह को दिया। दोनों की सफलता पर प्रो जवाहर पासवान, हर्ष वर्धन के माता पिता प्रभावती देवी, तेज प्रताप सिंह, प्रसन्ना सिंह राठौर के माता पिता प्रो वीणा सिंह, प्रो निखिल सिंह, अजित पाल सहित बुद्धिजीवियों ने बधाई दी है।


Spread the news
advertise