मधेपुरा : आज हमारे देश को अबुल कलाम आजाद जैसे लोगों की जरूरत- डा केपी यादव

728x90
Spread the news

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार :   ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय के बीएड विभाग में सोमवार को राष्ट्रीय शिक्षा दिवस मनाया गया।

 कार्यक्रम का उद्घाटन महाविद्यालय के प्राचार्य डा केपी यादव, विभागाध्यक्ष जावेद अहमद, नदीम अहमद, आरके रंजन, विनीत राज ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया।

 मौके पर प्राचार्य डा केपी यादव ने कहा कि मौलाना अबुल कलाम आजाद हमारे देश के प्रथम शिक्षा मंत्री थे। उन्हीं के जन्मदिवस पर राष्ट्रीय शिक्षा दिवस मनाया जाता है। आज हमारे देश को अबुल कलाम आजाद जैसे लोगों की जरूरत है। ताकि शिक्षा के क्षेत्र में हम और आगे बढ़ सकें।  विभागाध्यक्ष डा जावेद अहमद ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में अबुल कलाम आजाद ने हमारे देश को बहुत कुछ दिया। उन्होंने अबुल कलाम आजाद द्वारा रचित कई किताबों की चर्चा की।  छात्र धीरज कुमार ने कहा कि अबुल कलाम आजाद हमारे देश के बहुत बड़े शख्सियत थे। जिनके जन्मदिवस पर 2008 से हम लोग राष्ट्रीय शिक्षा दिवस मना रहे हैं। शिक्षक अमित कुमार, आरके रंजन, श्री गोविंद ने कहा कि अबुल कलाम आजाद को मरणोपरांत भारत रत्न से सम्मानित किया गया। उनके आदर्शों पर देशवासियों को चलना चाहिए।

इस अवसर पर शिक्षिका स्नेहा कुमारी, छात्रा अंशु प्रिया सहित अन्य लोगों ने भी अपने विचार व्यक्त किए।  कार्यक्रम का संचालन करते हुए नदीम अहमद ने अबुल कलाम आजाद के जीवन चरित पर विस्तार से चर्चा करते हुए कहा कि अबुल कलाम आजाद बहुत बड़े व्यक्तित्व थे। पूरी दुनिया को उनके विचारों को अपनाने की आवश्यकता है।  उन्होंने कहा कि अबुल कलाम आजाद ने कहा था कि दिल से दी गई शिक्षा ही समाज में क्रांति ला सकती है।

 मौके पर अभिषेक आनंद, अमित आनंद, छात्र धीरज कुमार, आशीष अमन, धीरज राय सहित दर्जनों छात्र मौजूद थे। धन्यवाद ज्ञापन डा सुप्रिता कुमारी ने किया।


Spread the news