हैवानियत की इंतहा : अपहृत 9 वर्षीय बालक का मिला शव, लोगों में आक्रोश, देर शाम तक सड़क जामकर हत्यारे की गिरफ़्तारी की मांग  

728x90
Spread the news

आकाश दीप
संवाददाता
उदाकिशुनगंज, मधेपुरा

रविवार 2 जून की संध्या बालक का हुआ अपहरण, बुधवार 5 जून की दोपहर शव हुआ बरामद

उदाकिशुनगंज/मधेपुरा/बिहार : उदाकिशुनगंज थाना अन्तर्गत बुधामा ओपी क्षेत्र के खाड़ा पंचायत वार्ड संख्या 05 निवासी रामचन्द्र नोनियां का अपहृत 9 वर्षीय पुत्र रविन्द्र कुमार की हत्या कर दी गई। शव गांव के ही खाडा़ हाई स्कूल समीप एन एम डी ईंट उद्योग, संतोष कुमार सिंह के चिमनी भट्ठा के दक्षिण पूर्वी भाग स्थित 05 फीट गहरा गड्ढा से बरामद किया गया।

बताया जाता है कि गांव की कुछ महिलाएं घास भूस के लिए खेत की तरफ जा रही थी कि उसकी नजर गड्ढे में तैर रहे शव पर पड़ी, देखते ही चिल्लाने लगी। आसपास में काम कर रहे लोग पहुंचे और तुरंत शव मिलने की सूचना दुरभाष के माध्यम से बुधामा ओपी प्रभारी प्रह्लाद कुमार सिंह को दी। ओपी प्रभारी अविलम्ब अपने दलबल के साथ पहुंचकर शव को अपने कब्जे में लिया और तुरंत ही इसकी सूचना थानाध्यक्ष जनक किशोर सिंह को दी।

थानाध्यक्ष जनक किशोर सिंह द्वारा शव को आॅटो पर लोड कर पोस्टमार्टम के लिए मधेपुरा भेजने के क्रम में रास्ते में ही खाडा़ चौंक के पास लोगों ने मुख्य सड़क को घेर कर प्रदर्शन व नारेबाजी करने लगे। सूचना पाकर अविलम्ब उदाकिशुनगंज डीएसपी सी. पी. यादव भी पहुँचकर लोगों को समझा बुझाकर शांत कराया और शव को पोस्टमार्टम के लिए पुनः मधेपुरा भेज दिया।

इस दौरान लोगों ने उदाकिशुनगंज डीएसपी से अविलम्ब गश्ती वाहन और अतिरिक्त पुलिस बल की मांग की। लोगों का कहना है कि बुधामा ओपी में वाहन न होने के कारण घटना की सूचना पाकर ससमय स्थल पर पुलिस नहीं पहुंच पाती है, एवं पुलिस गश्ती में कठिनाई भी होती है। लोगों ने उदाकिशुनगंज डीएसपी से अविलम्ब गश्ती वाहन और अतिरिक्त पुलिस बल की मांग की। डीएसपी सीपी यादव, ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए पुलिस बल के साथ आरोपियों की गिरफ़्तारी के लिए छापेमारी में जुट गए। खबर लिखे जाने तक ग्रामीण सड़क जाम कर बैठे हुए थे। किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हो पाई थी। गांव का माहौल काफी तनावपूर्ण बना हुआ है। गांव के जनप्रतिनिधियों के खिलाफ भी दबी जुबान से ग्रामीण चर्चा कर रहे थे। ग्रामीणों में स्थानीय प्रशासन और स्थानीय जनप्रतिनिधि के प्रति साफ-साफ आक्रोश दिखाई पड़ रहा था।

क्या है पुरा मामला : करीब 25 दिन पूर्व जिला खगड़िया बेलदौर थाना क्षेत्र के बोबिल फुलवड़िया निवासी चंदन मिश्र अपने ननिहाल खाडा़, मोटरसाइकिल सवार होकर आ रहे थे। रास्ते में कन्या विद्यालय के समीप छोटी पुलिया के पास सड़क दुर्घटना में मृतक की मां की गोतनी लालो देवी को काफी चोटें आई और गले की हड्डी टुट गई। आसपास के लोगों ने सामाजिक न्याय के तहत इलाज के लिए दुर्घटना में घायल व्यक्ति को 23 हजार रुपये देने को कहा। सामाजिक दबाव में आकर रूपये देते वक्त चंदन मिश्र और उसका भाई कुंदन मिश्र ने घायल को धमकी दिया कि यह पैसे जल्द ही तुमसे वसुल लेंगे, चाहे जो करना पड़े। अगले ही दिन बालक का अपहरण कर लिया गया।

अपहरण को लेकर थाना में दिए गए आवेदन में नामजद अभियुक्त खाडा़ निवासी सुधाकर झा का पुत्र मुंन्ना झा, एवं डीलर नवल किशोर सिंह का पुत्र शंकर सिंह उर्फ पिंटू सिंह, बोबिल फुलवड़िया निवासी विलास मिश्र का पुत्र चन्दन मिश्र एवं कुंदन मिश्र। ग्राम हरंगी टोला महेशखूंट निवासी असर्फी झा का पुत्र जयनंदन झा एवं अभिनंदन झा ने मिलकर रवीन्द्र कुमार का अपहरण कर लिया। ये सभी आपस में संबंधी भी है।
थानाध्यक्ष जे. के. सिंह ने बताया कि छापेमारी की जा रही है, जल्द ही सभी आरोपियों को पकड़ कर जेल भेजा जाएगा।


Spread the news