मधेपुरा : खेल जीवन का महत्वपूर्ण अंग, इसका जीवन में अत्यधिक महत्व

728x90
Spread the news

अमित कुमार
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : खेल जीवन का महत्वपूर्ण अंग है। इसका जीवन में अत्यधिक महत्व है। खेल हमारे समग्र विकास के लिए जरूरी है। यह बात कुलपति डाॅ. अवध किशोर राय ने कही। वे शुक्रवार को के. पी. काॅलेज, मुरलीगंज में आयोजित महिला फुटबॉल मैच के समापन समारोह में उद्घाटनकर्ता सह मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे।

कुलपति ने कहा कि बीएनएमयू में खेल गतिविधियां बढ़ी हैं। हमारी टीम विभिन्न विधाओं में बेहतरीन प्रदर्शन कर रही हैं। विद्यार्थियों का उत्साह बढ़ा है। इसी की परिणति है कि आज बीएनएमयू के इतिहास में पहली बार महिला फुटबॉल मैच का आयोजन किया गया है। आगे अंतर महाविद्यालय महिला फुटबॉल मैच का आयोजन किया जाएगा। साथ ही बीएनएमयू की टीम को अंतर विश्वविद्यालय प्रतियोगिता में भी भेजा जाएगा।

कुलपति ने कहा कि बीएनएमयू प्रशासन ने कक्षा की पढ़ाई के साथ-साथ खेलकूद एवं अन्य शैक्षणिक गतिविधियों को भी गंभीरता से लिया है। इसके कारण हमने राज्यस्तरीय एकलव्य एवं तरंग प्रतियोगिता में बेहतरीन प्रदर्शन किया है। साथ ही वर्ष 2018 में हमने विभिन्न खेलों में अंतर विश्वविद्यालय प्रतियोगिता में भी सशक्त भागीदारी निभाई है।

हमारे विद्यार्थी इसका लाभ उठाएं और विभिन्न स्पर्धाओं में बढ़चढ़ कर भाग लें और बेहतर प्रदर्शन कर विश्वविद्यालय एवं राज्य का नाम रौशन करें। आज खेलों में कैरियर की संभावनाएं भी बढ़ी हैं। इसे हम एक कैरियर विकल्प के रूप में भी अपना सकते हैं।

कुलपति ने कहा कि जो भी विद्यार्थी किसी भी विधा में बेहतर प्रदर्शन करेंगे, उन्हें विश्वविद्यालय की ओर से प्रोत्साहन एवं सम्मान दिया जाएगा।

कुलपति ने कहा कि खेल को खेल भावना से खेलें। जीत-हार दोनों एक-दूसरे के पूरक हैं। जीतने वाली टीम के साथ-साथ हारने वाली टीम को भी बधाई।

कुलपति ने कहा कि किसी भी मैच में जीतने के लिए एकाग्रता जरूरी है। साथ ही टीम के सभी सदस्यों के बीच समन्वय एवं सामंजस्य जरूरी है।

इस अवसर पर प्रति कुलपति डॉ फारूक अली ने कहा कि श्रम का सम्मान होना चाहिए। जो टीम हारी है, वह भी आगे मेहनत करें। कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती है।

यूभीके काॅलेज, कड़ामा के प्रधानाचार्य डाॅ. माधवेन्द्र झा ने कहा कि कुलपति के नेतृत्व में बीएनएमयू लगातार प्रगति पथ पर अग्रसर है। के. पी. काॅलेज में भी बदलाव एवं विकास की नई पहल हुई है।

इस अवसर पर विजेता टीम एवं उप विजेता टीम के बीच पुरस्कार वितरण किया गया। कुलपति ने इसी माह सेवानिवृत्त होने जा रहे प्रधानाचार्य को विशेष रूप से अंगवस्त्रम् देकर सम्मानित किया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रधानाचार्य डाॅ. जयनंदन प्रसाद यादव ने की। कोमेन्टेटर की भूमिका मुकेश कुमार ने निभाई।

 इस अवसर पर खेल सचिव डॉ. अबुल फजल, सह सचिव डाॅ. शंकर कुमार मिश्र, पीआरओ डाॅ. सुधांशु शेखर, महाविद्यालय के खेल पदाधिकारी डाॅ. मो. अली अहमद मंसूरी, महेन्द्र मंडल, सुशांत कुमार सिंह, डाॅ. शीलेन्द्र कुमार पाठक, डाॅ. शिवा शर्मा, नीरज कुमार निराला, रवीन्द्र यादव, देवाशीष, डेविड यादव आदि उपस्थित थे।

मुरलीगंज एवं मुजफ्फरपुर के टीम के बीच खेला गया मैच
यह मैच मुरलीगंज एवं मुजफ्फरपुर के टीम के बीच खेला गया। पहले हाफ में दोनों में से कोई भी टीम गोल नहीं कर पाई। दूसरे हाफ में मुजफ्फरपुर की टीम ने लगातार दो गोल कर मैच दो-शून्य से अपने नाम कर लिया।
  कुलपति ने मैन ऑफ द मैच प्रतिभा कुमारी को विश्वविद्यालय का ट्रैक शूट देकर सम्मानित किया।


Spread the news