दरभंगा : नेहरा सहायक थाना पुलिस के विरूद्घ लोगो का फुटा गुस्सा, जमकर किया बबाल, सकरी धरोड़ा मुख्य सड़क सात घंटा जाम

728x90
Spread the news

पंकज कुमार की रिपोर्ट

मनीगाछी/दरभंगा/बिहार : सोमवार को नेहरा गाँव के एक जाति विशेष के लोगों ने नेहरा सहायक थाना का घेराव कर जमकर बबाल किया। गाँव की लड़की के अपहरण के आरोपी को गिरफ्तार करने में नाकाम रही पुलिस के विरुद्ध लोग आक्रोशित थे।

इस दौरान आक्रोशित भीड़ ने सकरी-धरौड़ा मुख्य सड़क को जगह-जगह जाम कर उग्र प्रदर्शन किया।लोगों ने अपहृता को अविलम्ब बरामद किए जाने की माँग की। नेहरा सहायक थाना के सामने, नेहरा हाट चौक एवं दरगाह चौक के पास टायर जलाकर एवं बांस-बल्ला लगाकर सुबह 9 बजे सड़क को जाम कर दिए जाने से दोनों ओर दिन के 3 बजे तक वाहनो की लम्बी कतारें लगी रही। जाम में फंसे लोग परेशान रहे।

विदित हो कि सात 07 मार्च को नेहरा गाँव की एक अविवाहित लड़की को बगल रजवाड़ा के गाँव के लड़के के द्वारा शादी की नीयत से अपहरण कर लिए जाने का मामला प्रकाश में आया था।अपहृता के पिता ने बताया कि वह इस मामले में 8 मार्च को मनीगाछी थानाध्यक्ष को आवेदन देने थाने पहुंचे।नेहरा सहायक थाना अध्यक्ष मनोज कुमार शर्मा छुट्टी पर चले जाने के कारण मनीगाछी थानाध्यक्ष रंजीत कुमार ही नेहरा सहायक थाना के प्रभारी हैं।उनको अपहृत बच्ची को 24 घंटे के अंदर बरामद कर लिए जाने का आश्वासन दिया। पुलिस अपहृत लड़की को जब 24 घंटे में ढ़ूढने में नाकाम रही। तब वह अगले दिन 9 मार्च को फिर से आवेदन लेकर मनीगाछी थाने पहुंचे। दिनभर उन्हें टहलाने के बाद शाम को उनसे आवेदन लिया गया।

इधर ग्रामीणों को अपहृत लड़की के अपहरण कर्ता के घर पर होने की खबर मिली।खबर के फैलते ही लोगों की भीड़ जुटी और लड़की को बरामद करने की माँग को लेकर थाने का घेराव कर दिया। लोगों के दबाव पर पुलिस ने आरोपी के एक साथी को थाने में लाकर पुछताछ की। इस मामले में पुछने पर काण्ड के अनुसंधान कर्ता एएसआई रविन्द्र कुमार ने बताया कि अपहरण का काण्ड 36/19 दर्ज कर आगे की कारवाई जारी है। अपहृता के खोजबीन में वह आरोपी के घर गए थे।वहाँ भाड़ी संख्या में लाठी-डंडे से लैस औरतों ने उन्हें तलाशी लेने से रोका। इस वाकये की सूचना डीएसपी एवं इंस्पेक्टर बेनीपुर को दी गई है।एसएसपी दरभंगा को जानकारी देने का वह कई बार प्रयास किए।किन्तु एसएसपी द्वारा फोन रिसीव नहीं किए जाने के कारण उनसे बात नहीं हुई। महिला पुलिस के साथ ही पर्याप्त संख्या में पुलिस बल की माँग की गई है। पुलिस बलों के आते ही अपहृता की बरामदगी के लिए छापेमारी की जाएगी। आखिरकार दिन के 04:बजे मनीगाछी थाना के एसआई देवनाथ शर्मा के द्वारा 24 घंटे के भीतर आरोपी को गिरफ्तार करने पर सात घंटे के बाद जाम को हटाया गया।


Spread the news