घोर कलयुग : दादा ही निकला तीन साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म करने वाला वहशी दरिंदा

728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : तीन वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म के मामले का मधेपुरा पुलिस ने खुलासा कर दिया है, इस मामले में सबसे ज्यादा चौकाने और शर्मनाक बात यह है कि बच्ची के साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम देने वाला कोई और नहीं बल्कि बच्ची का दादा ही दुष्कर्मी निकला, पुलिस ने दुष्कर्मी दादा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

मालूम हो कि विगत 25/26 मई की रात को जिले के गमहरिया थाना क्षेत्र में एक तीन साल की बच्ची के साथ बेरहमी के साथ दुष्कर्म कर बाँसबाड़ी में फेंक दिया, सुबह होने पर घर से करीब 200 मीटर की दूरी पर खून से लथपथ, बेहोशी की हालत में बच्ची मिली, जिसके बाद परिजन बच्ची के इलाज और इंसाफ के लिए कभी थाना तो कभी अस्पताल का चक्कर काट रहे थे, लेकिन ना तो पुलिस इस मामले में दिलचस्पी दिखा रही थी और ना ही बच्ची का इलाज हो पा रहा था, 28 मई को कुछ जनप्रतिनिधियों की मदद से बच्ची को इलाज के मधेपुरा सदर अस्पताल लाया गया जिसके बाद यह मामला मंजर आम पर आया और फिर पुलिस हरकत में आई।  जिसके बाद पीड़ित बच्ची के पिता के बयान पर महिला थाना में दफा 376 (ए बी) और 4/6 पॉक्सो एक्ट के तहत अज्ञात के विरूद्ध कांड दर्ज किया गया और पुलिस की तहकीकात शुरू हुई तो वहशी दरिंदा बच्ची का दादा ही निकला जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है ।

इस संबद्ध में मधेपुरा एसपी राजेश कुमार ने बातया कि मामला संज्ञान में आते ही कांड के त्वरित उद्भेदन एवं गिरफ्तारी के लिए सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के नेतृत्व में एक टीम गठित की गयी, जिसमें थानाध्यक्ष गम्हरिया, थानाध्यक्ष महिला थाना एवं अन्य पुलिस कर्मियों को शामिल किया गया। अनुसंधान के कम में ज्ञात हुआ कि पीड़ित बच्ची अपने दादा एवं फुआ के साथ सोयी हुई थी, जिसे दिनांक-25 / 26.05.2022 के रात्री में किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा बच्ची को घर के पीछे बॉसबिट्टी में ले जाकर इस घटना को अंजाम दिया गया है।

एसपी ने बताया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए अविलंब इस कांड का अनुसंधान घटनास्थल पर जाकर किया गया तो पीड़िता के दादा की गतिविधि संदिग्ध पायी गयी। पीड़िता के दादा एवं पीड़िता की माँ के भी बयान में काफी बिरोधाभाष पाया गया। अग्रतर अनुसंधान करने पर पाया गया कि पीड़िता के दादा ही घटना के रात्री करीब 1:00 बजे अपने पोती (पीड़िता) को गोदी में उठाकर घर के पीछे बॉसबिट्टी में ले गये थे तथा उसके साथ इस घटना को अंजाम दिये हैं। इस बात की पुष्टि पीड़िता के द्वारा भी की गयी है और पीड़िता के दादा के द्वारा भी पुलिस के समक्ष पूछताछ के दौरान इस घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकार किया गया है। इस प्रकार घटना की सूचना मिलने के मात्र चार घंटे के अंदर इस कांड को उद्भेदित करने में सफलता मिली है तथा अपराधी पीड़िता के दादा को भी गिरफ्तार कर लिया गया है।

एसपी ने बतया कि कांड का अनुसंधान जारी है और भौतिक साक्ष्यों के एकत्रिकरण के लिए फौरेंसिक टीम को भी बुलाया गया है।

बिनीत कुमार बबलू
संवाददाता, मधेपुरा

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें