BNMU : कुलपति व कुलसचिव को सद्बुद्धि के लिए धरना स्थल पर किया हवन

728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय (BNMU) परिसर में बीएनएमयू के अधीन अंगीभूत महाविद्यालयों में संचालित शिक्षा शास्त्र विभाग (बीएड) के शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मचारियों का धरना बुधवार को तीसरे दिन भी जारी रहा. विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा आंदोलनकारियों के मांगों पर कोई सकारात्मक पहल नहीं किये जाने से आक्रोशित शिक्षक एवं शिक्षकेतर कर्मचारियों ने धरना स्थल पर हवन किया. बीएड शिक्षकों का कहना था कि चैत नवरात्रि के अवसर पर हवन के माध्यम से उनलोगों ने बीएनएमयू कुलपति व कुलसचिव को सद्बुद्धि देने की प्रार्थना मां दुर्गा से की है. शिक्षकों ने हवन स्थल पर विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की. उनका कहना था कि न्यायालय, सरकार, विश्वविद्यालय के सीनेट एवं सिंडिकेट के आदेश की अवहेलना विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा किया जा रहा है.

मस भरी गर्मी में पानी को भी तरस रहे हैं शिक्षक : शिक्षकों ने कहा कि लोकतांत्रिक तरीके से शांतिपूर्ण धरना पर बैठे शिक्षकों से अभी तक विश्वविद्यालय से एक भी प्रतिनिधि मिलने नहीं आये हैं. धरना पर बैठे डा सुप्रिया सिन्हा, डा मनोज कुमार, डा नृपेंद्र नारायण नंदन, डा स्मिता झा, डा स्नेहा कुमारी, डा सुप्रिता कुमारी, डा नीति, अनुराधा, ज्योति, बसंती, डा गोविंद कुमार, डा मिथिलेश, डा अनीश, शिवनाथ गुप्ता, सुधीर सागर, डा कुंदन कुमार सिंह, प्रियरंजन, डा आसिफ अली, डा ब्रजेश शरण, डा विकास आनंद, भानु कुमार, दिनेश कुमार, शैलेंद्र कुमार, डा नंद कुमार झा समेत उपस्थित अन्य शिक्षकों ने कहा कि उमस भरी गर्मी में एस्बेस्टस छतरी के नीचे धरना पर बैठे शिक्षक पानी को भी तरस रहे हैं. विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा कोई भी व्यवस्था नहीं की जा रही है.

छात्र व शिक्षक प्रतिनिधि के साथ बातचीत कर निकालें बीच का रास्ता : बीएनएमयू में तीन दिनों से धरना पर बैठे अंगीभूत कॉलेजों में संचालित बीएड शिक्षक-शिक्षकेतर कर्मचारियों से मिलने विश्वविद्यालय के सिंडिकेट सदस्य डा रामनरेश सिंह पहुंचे. उन्होंने शिक्षकों से उनकी मांगों से संबंधित जानकारी ली. डा रामनरेश सिंह ने कहा कि शिक्षकों के हित की अनदेखी विवि प्रशासन कर रही है. उन्होंने कहा कि कोर्ट के आदेश एवं राज्य सरकार के निर्देश के बाद विवि में सिंडिकेट एवं सीनेट से भी वेतन वृद्धि का प्रस्ताव पारित हो चुका है. इसके बावजूद विवि इस पर संज्ञान नहीं ले रहा है. उन्होंने कहा कि विवि को छात्र प्रतिनिधि एवं शिक्षक प्रतिनिधि के साथ लीगल सेल के अधिकारियों को बिठाकर बातचीत कर बीच का रास्ता निकालना चाहिये. जिससे कि छात्रों की भी नाराजगी ना रहे और शिक्षक-शिक्षकेतर कर्मचारियों को भी परेशानी नहीं हो.

 शौचालय की गंदगी से आ रही बदबू से परेशानी : भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय में तीन दिनों से धरना पर बैठे आंदोलनकारियों में शामिल महिला शिक्षिकाओं ने बीएनएमयू कुलपति प्रो डा राम किशोर प्रसाद रमण से मिलकर आवेदन दिया. महिला शिक्षिकाओं का कहना था कि चिलचिलाती धूप एवं उमस भरी गर्मी में धरना स्थल पर विश्वविद्यालय द्वारा कोई व्यवस्था नहीं की गई है. ना तो बिजली पंखा और ना ही पानी की व्यवस्था की गई है. शौचालय की गंदगी से आ रही बदबू शिक्षकों को धरना स्थल पर बैठने में भी परेशानी डाल कर रही है. कुलपति ने उनके आवेदन को कुलसचिव के पास भेजा है.

काला पट्टी लगाकर करेंगे विरोध : भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय के बीएड कॉलेज के शिक्षकों ने कहा की विश्वविद्यालय द्वारा उनकी मांगों पर कोई संज्ञान नहीं लिया जा रहा है. इसके लिए गुरुवार को वे लोग काला पट्टी लगाकर धरना पर बैठेंगे और विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ विरोध दर्ज करेंगे.

अमित कुमार अंशु संपादक
अमित कुमार अंशु
संपादक
द रिपब्लिकन टाइम्स

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें