BNMU : विश्वविद्यालय अधिषद की तैयारियों को लेकर बैठक आयोजित

728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : अधिषद (सीनेट) की बैठक विश्वविद्यालय का महापर्व है. इस महापर्व को सफल बनाना हम सबों का कर्तव्य है. इसलिए हम सबों को सभी गिले-शिकवे भूलकर आपसी समन्वय के साथ काम करना है. यह बात भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय के कुलसचिव डा मिहिर कुमार ठाकुर ने कही. वे मंगलवार को विश्वविद्यालय अधिषद (सीनेट) की तैयारियों को लेकर आयोजित बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे. अधिषद की वार्षिक बैठक 19 फरवरी को विश्वविद्यालय प्रेक्षागृह में निर्धारित है. कुलसचिव ने कहा कि अधिषद विश्वविद्यालय की सबसे महत्वपूर्ण सभा है. इसकी बैठक में विश्वविद्यालय की दशा एवं दिशा तय होती है. इसलिए अधिषद की बैठक की तैयारियों में कोई कमी नहीं छोड़ी जायेगी. सबके साथ एवं सबके प्रयास से इस आयोजन को पूर्णतः सफल बनाना है.

बुधवार को भी खुले रहेंगे कार्यालय : कुलसचिव ने बताया कि अधिषद की बैठक को लेकर विश्वविद्यालय मुख्यालय के सभी कार्यालय एवं कोषांग बुधवार को भी खुले रहेंगे. इस दिन के संत रविदास जयंती की छुट्टी का आगे समायोजन कर दिया जायेगा. सभी पदाधिकारियों एवं कर्मचारियों को 19 फरवरी तक अनिवार्य रूप से मुख्यालय में बने रहने का आदेश दिया गया है. इसके अलावा सीनेट की बैठक के दिन निर्धारित दायित्वों को मुस्तैदी से पूरा करने एवं बैठक संचालन के क्रम में आवश्यकतानुसार अभिलेख, संचिका, साक्ष्य एवं पत्रादि की प्रतिपूर्ति के लिए कार्यालय को तैयार रखने कहा गया है.

बनेगा तोरणद्वार, 16 फरवरी को होगी समीक्षा बैठक : कुलसचिव ने बताया कि विश्वविद्यालय की साफ-सफाई की जा रही है और प्रेक्षागृह का रंगाई की जा रही है. अतिथियों के स्वागत के लिए तोरणद्वार बनेगा. अधिषद सदस्यों के साथ-साथ आयोजन समिति के सभी सदस्यों, सभी कर्मचारियों एवं मीडियाकर्मियों के लिए पहचान पत्र जारी किया जायेगा. विधि-व्यवस्था को बनाए रखने के लिए आरक्षी अधीक्षक को पत्र भेजा जा चुका है. अतिथियों के भोजन एवं अल्पाहार की समुचित व्यवस्था की जा रही है. कुलसचिव ने बताया कि सभी कार्यों को अंतिम रूप दिया जा रहा है. बुधवार को बीएनएमयू कुलपति प्रो डा राम किशोर प्रसाद रमण की अध्यक्षता में एक समीक्षा बैठक होगी, जिसमें कार्यों को अंतिम रूप दिया जायेगा.

सभी कर्मी हैं पूरी तरह मुस्तैद, कुलपति स्वयं कर रहे हैं कार्यों की निगरानी : कुलपति के निजी सहायक शंभु नारायण यादव ने कहा कि विश्वविद्यालय के शिक्षकेत्तर कर्मचारी हमेशा विश्वविद्यालय को मंदिर मानते हैं और विश्वविद्यालय के सभी आयोजन को एक पारिवारिक यज्ञ मानकर कार्य करते हैं. अधिषद के अधिवेशन को सफल बनाने के लिए सभी कर्मी पूरी मुस्तैदी से कार्य कर रहे हैं. उन्हें आशा ही नहीं, वरन पूर्ण विश्वास है कि यह अधिवेशन हर तरह से सफल होगा. जनसंपर्क पदाधिकारी डा सुधांशु शेखर ने बताया कि विश्वविद्यालय प्रशासन अभिषद की बैठक को लेकर काफी गंभीर हैं और कुलपति स्वयं सभी कार्यों की निगरानी कर रहे हैं. कुलपति ने सभी पदाधिकारियों एवं मुख्यालय के विभिन्न कार्यालयों में कार्यरत कर्मचारियों को सीनेट से संबंधित सभी कार्यों को अविलंब पूरा करने का निदेश दिया गया है.

बैठक के अंत में दी गई श्रद्धांजलि : बैठक के अंत में प्रति कुलपति प्रो डा आभा सिंह के भाई आईएफएस ओम प्रकाश एवं कुलसचिव के निजी सहायक राजीव कुमार की पत्नी कुमारी लता को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई. मौके पर डा राजेश्वर राय, चंद्रकिशोर गुप्ता, डा संजीव कुमार, कमल किशोर ठाकुर, राजेश कुमार, बमबम कुमार, विवेकानंद, संतोष कुमार, कमल कुमार, विनोद कुमार सिंह, अमित कुमार, पवन हरिजन, शशि प्रसाद यादव,जवाहर लाल, हीरेंद्र कुमार, विकास कुमार, कुमार राजन, नमन कुमार, राजकुमार, जितेंद्र कुमार, विनय कुमार सिंह, रतन कुमार, देवाशीष कुमार, ललित कुमार, एसएन चौधरी, जनेश्वरी, लक्ष्मी मिश्र, पलटू यादव, फसीउद्दीन, मनीषा कुमारी आदि उपस्थित थे.

अमित कुमार अंशु संपादक
अमित कुमार अंशु
संपादक
द रिपब्लिकन टाइम्स

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें