मैट्रिक परीक्षा को लेकर डीएम एसपी ने की बैठक, कहा – स्वच्छ एवं कदाचार मुक्त परीक्षा का होगा संचालन

728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : गुरुवार से 24 फरवरी तक संचालित होने वाली माध्यमिक परीक्षा को लेकर जिला प्रशासन एवं शिक्षा विभाग ने पूरी रूप से तैयारी कर ली है. परीक्षा केंद्रों में शिक्षकों की तैनाती सुनिश्चित करने की अंतिम प्रक्रिया भी की जा रही है. रेंडमाइजेशन के तहत शिक्षकों की तैनाती विभिन्न केंद्रों पर की गई है. इस बाबत मंगलवार को जिला पदाधिकारी श्याम बिहारी मीणा एवं पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार ने जिला मुख्यालय स्थित कला भवन में जिले के सभी प्रखंडों के प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी, केंद्राधीक्षक एवं पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक कर दिशा निर्देश दिया.

स्वच्छ एवं कदाचार मुक्त परीक्षा का होगा संचालन : जिला पदाधिकारी श्याम बिहारी मीणा ने बैठक में उपस्थित सभी अधिकारियों को साफ निर्देश दिया कि परीक्षा पूरी तरह कदाचारमुक्त एवं शांतिपूर्ण होगी. परीक्षा केंद्र पर परीक्षा का संचालन केंद्राधीक्षक एवं वीक्षक की जिम्मेदारी है. इसमें गड़बड़ी हुई तो इसके लिये केंद्रधीक्षक एवं वीक्षक पर कार्रवाई की जायेगी. परीक्षा पूरी तरह पारदर्शी होगा. स्वच्छ एवं कदाचार मुक्त परीक्षा संचालन के लिए परीक्षा केंद्रों का औचक निरीक्षण के लिए गस्ती दल एवं उड़नदस्ता दल की नियुक्ति की गई है. मैट्रिक परीक्षा कोरोना के बीच हो रहा है. राज्य सरकार के निर्देशानुसार परीक्षा के दौरान सभी केंद्रों पर कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन होगा. बैठक में शिक्षा पदाधिकारी बीरेंद्र नारायण यादव, सदर अनुमंडल पदाधिकारी नीरज कुमार, सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अजय नारायण यादव समेत अन्य अधिकारी, शिक्षक एवं कर्मी उपस्थित थे.

जिले के 33 परीक्षा केंद्रों पर किया जायेगा परीक्षा का संचालन : इंटर की अपेक्षा माध्यमिक परीक्षा में परीक्षार्थियों की संख्या कम रहने के कारण परीक्षा केंद्रों में भी कमी की गई है. सदर अनुमंडल में 25 एवं उदाकिशुनगंज अनुमंडल में आठ परीक्षा केंद्र बनाये गये हैं, यानी जिले में 33 परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा का संचालन किया जायेगा. इन परीक्षा केंद्रों में सदर अनुमंडल के नौ परीक्षा केंद्र बालिकाओं के लिए बनाया गया है एवं 16 परीक्षा केंद्र बालकों के लिए बनाया गया है. वहीं उदाकिशुनगंज अनुमंडल अंतर्गत आठ परीक्षा केंद्र केवल बालिकाओं के लिए बनाया गया है. उदाकिशुनगंज अनुमंडल में एक भी केंद्र बालक के लिए नहीं बनाया गया है.

29 हजार दो सौ 71 परीक्षार्थी परीक्षा में होंगे शामिल : मैट्रिक की परीक्षा में पूरे जिले में 29 हजार दो सौ 71 छात्र-छात्राएं सम्मिलित होंगे. इन परिक्षार्थियों में 23 हजार पांच सौ 58 परीक्षार्थी सदर अनुमंडल एवं पांच हजार छह सौ 93 परीक्षार्थी उदाकिशुनगंज अनुमंडल के परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा में शामिल होंगे. इनमें 15 हजार सात सौ 65 छात्र एवं 13 हजार पांच सौ छह छात्राएं परीक्षा में शामिल होंगे. परीक्षा केंद्र के आसपास भीड़ पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा रहेगा. दो पालियों में आयोजित परीक्षा को लेकर सभी परीक्षा केंद्रों पर अतिरिक्त पुलिस बलों की तैनाती की गई है. सभी परीक्षा केंद्र पर मजिस्ट्रेट मौजूद रहेंगे.

रेंडमाइजेशन के तहत परीक्षा केंद्रों पर की गई है वीक्षकों की तैनाती : रेंडमाइजेशन के तहत वीक्षकों की तैनाती सभी परीक्षा केंद्रों पर की गई है. शिक्षकों को परीक्षा संचालन के लिए दिशानिर्देश के साथ प्रशिक्षण भी दिया गया है. जिला शिक्षा पदाधिकारी बीरेंद्र नारायण यादव ने बताया कि शिक्षकों को एक कमरे से दूसरे कमरे में जाने पर पूरी तरह प्रतिबंध रहेगा. ऐसा करते पकड़े जाने पर उन पर कार्रवाई की जायेगी. वीक्षक भी अपने पास मोबाइल उपकरण परीक्षा के दौरान नहीं रख सकेंगे. उन्होंने बताया कि शिक्षकों को पहचान पत्र दिया जायेगा. पहचान पत्र वाले वीक्षक ही वीक्षण का कार्य करेंगे. उन्होंने बताया कि सभी केंद्रों पर अतिरिक्त वीक्षक दिये गये हैं. परीक्षा दो पालियों में आयोजित किया जायेगा. विषय के अनुसार प्रथम पाली साढ़े नौ बजे से 12:15 एवं 12:45 बजे तक तथा दुसरी पाली भी विषय के अनुसार 1:45 से साढ़े चार एवं पांच बजे तक आयोजित की जायेगी.

जिले में बालिकाओं के लिये बनाये गये हैं 17 परीक्षा केंद्र : कदाचार मुक्त परीक्षा संचालन के लिए जिले में 33 परीक्षा केंद्र बनाये गये हैं. जिनमें 17 परीक्षा केंद्र सिर्फ लड़कियों के लिए बनाये गये हैं. जिसमें सदर अनुमंडल में बालिकाओं के लिए वेदव्यास महाविद्यालय, इवनिंग कॉलेज, शिवनंदन प्रसाद मंडल इंटर स्तरीय उच्च विद्यालय, रासबिहारी उच्च विद्यालय, टीपी कॉलेजिएट उच्च विद्यालय, केशव कन्या उच्च विद्यालय, पीबी वर्ल्ड पब्लिक स्कूल, शिवनंदन प्रसाद मंडल विधि महाविद्यालय एवं केवी विमेंस कॉलेज को परीक्षा केंद्र बनाया गया है. वहीं उदाकिशुनगंज अनुमंडल क्षेत्र में एसबीजेएस इंटर स्तरीय उच्च विद्यालय उदाकिशुनगंज, उत्क्रमित मिडिल स्कूल कोसी कॉलोनी उदाकिशुनगंज, बीएसएस चंद्रकांता कॉलेज उदाकिशुनगंज, गवर्नमेंट हाई स्कूल बिहारीगंज, मिडिल स्कूल बालक उदाकिशनगंज, मधुराम मिडिल स्कूल ग्वालपाड़ा, अपग्रेड उच्च विद्यालय उदा उदाकिशनगंज एवं मधुराम हाई स्कूल ग्वालपाड़ा को बालिकाओं के लिए परीक्षा केंद्र बनाया गया है.

जिले में बालकों के लिये बनाये गये हैं 16 परीक्षा केंद्र : माध्यमिक परीक्षा के शांतिपूर्ण संचालन को लेकर पूरे जिले की 33 परीक्षा केंद्रों में से बालकों के लिए सदर अनुमंडल में 16 परीक्षा केंद्र बनाये गये हैं. जिला मुख्यालय स्थित ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय, पार्वती विज्ञान महाविद्यालय, भूपेंद्र नारायण मंडल वाणिज्य महाविद्यालय साहूगढ़, सीएम साइंस डिग्री कॉलेज, सीएम साइंस इंटर कॉलेज, मधेपुरा डिग्री कॉलेज, मधेपुरा इंटर कॉलेज, आरपीएम डिग्री कॉलेज, आरपीएम इंटर कॉलेज, अनुग्रह उच्च विद्यालय सुखासन चकला, राधेश्याम प्रमोद उच्च विद्यालय महर्षिमेंही नगर, एसएडी इंटर कॉलेज पथराहा एवं विमेंस इंटर कॉलेज सिंहेश्वर प्रखंड स्थित बीएस कॉलेज सिंहेश्वर, प्रोजेक्ट कन्या उच्च विद्यालय सिंहेश्वर एवं मनोहर दुर्गा उच्च विद्यालय सिंहेश्वर को बालकों के लिए परीक्षा केंद्र बनाया गया है.

सभी परीक्षा केंद्रों पर जांच के व्यापक प्रबंध : कदाचार मुक्त माध्यमिक परीक्षा को लेकर जिला प्रशासन द्वारा दिये गये निर्देश के आलोक में सभी परीक्षा केंद्रों पर जांच के व्यापक प्रबंध किये गये हैं. खासकर बालिकाओं के लिए बनाये गये परीक्षा केंद्रों पर अलग-अलग घेराबंदी की गई है. जहां प्रतिनियुक्त महिला कर्मियों द्वारा बालिकाओं की जांच की जायेगी. वहीं अन्य परीक्षा केंद्रों पर भी जांच के लिए व्यापक रूप से कर्मियों की तैनाती की गई है. तैनात कर्मियों को समय से पूर्व केंद्रों पर पहुंचने एवं जांच करने के लिए दिशा निर्देश दिये गये हैं.

अमित कुमार अंशु संपादक
अमित कुमार अंशु
संपादक
द रिपब्लिकन टाइम्स

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें