छात्रों पर लाठीचार्ज के खिलाफ मधेपुरा में प्रधानमंत्री का पुतला फूंका   

728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : आरआरबी एनटीपीसी में धांधली के खिलाफ आंदोलनरत अभ्यर्थियों पर सरकार द्वारा पुलिसिया दमन एवं बर्बर लाठीचार्ज के खिलाफ गुरुवार को मधेपुरा जिला मुख्यालय स्थित कॉलेज चौक पर NSUI नएसयूआई, एआईएसएफ एवं एसएफआई के संयुक्त बैनर तले सैकड़ों की संख्या सड़क जाम कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला दहन किया गया. छात्रों ने घंटो सड़क जाम कर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी किया.

विरोध प्रदर्षण का नेतृत्व कर रहे एनएसयूआई जिलाध्यक्ष निशांत यादव ने कहा कि आरआरबी एनटीपीसी के परीक्षा परिणाम में बड़े पैमाने पर धांधली हुई है. जिसके विरोध में छात्र विरोध प्रदर्षण कर, अपनी बात शांतिपूर्ण तरीके से रख रहे थे, लेकिन शांतिपूर्ण प्रदर्षण कर रहे छात्रों पर सरकार ने बर्बरतापूर्ण लाठीचार्ज किया. आंशु गैस के गोले दागे गये, हजारों छात्रों के ऊपर फर्जी मुकद्दमा दर्ज करवाया गया एवं रेलवे भर्ती बोर्ड द्वारा आंदोलन में शामिल नहीं होने की सरकारी धमकी दी जा रहा है. जिसे देश के युवा कतई बर्दाश्त नहीं करेगा.

लाठीचार्ज कर डराना चाहती है सरकार, लेकिन छात्र लड़ा है और लड़ते रहेंगे : निशांत यादव ने कहा कि हिंदुस्तान के सत्ता पर बैठे हुए लोग जालिम हैं, बेईमान हैं, मुजरिम हैं एवं भारत के संविधान के कातिल हैं. सरकार देश के लोकतांत्रिक एवं मौलिक अधिकारों को खत्म कर देना चाहती है. देश के युवाओं को नौकरी एवं शिक्षा से वंचित कर देना चाहती है. उन्होंने कहा कि देश के छात्र-युवा सरकार के पुलिसिया जुल्मों से डरने वाले नहीं हैं है. हम अपनी मांग पूरी होने तक डटे रहेंगे. एआईएसएफ जिलाध्यक्ष वसीमुद्दीन उर्फ नन्हे ने कहा कि रेलवे ने एनटीपीसी के सीबीटी-1 का रिजल्ट घोषित कर दिया है, लेकिन इस परिणाम को लेकर अभ्यर्थियों में काफी नाराजगी है. पहले डिजिटल रिजल्ट सुधार की मांग की, लेकिन सरकार कुछ भी सुनने को तैयार नहीं हुई. उन्होंने कहा कि छात्रों पर लाठीचार्ज कर सरकार छात्रों को डराना चाहती है, लेकिन छात्र अपना अधिकार के लिये लड़ा है और लड़ते रहेंगे. एसएफआई जिला सचिव विमल विद्रोही ने कहा कि सरकार की मंशा छात्रों एवं युवाओं को नौकरियों से वंचित रखने की है. आरआरबी एनटीपीसी की बहाली 2019 की चुनाव को ध्यान में रखकर युवाओ को ठगने के लिये था. अब चुनाव खत्म हो चुका है, इसलिये बहाली नहीं करना चाहती है.

रेलमंत्री व मोदी सरकार ने नहीं तोड़ी चुप्पी तो लड़ी जायेगी लड़ाई : एनएसयूआई छात्रनेता रवि रंजन कुमार ने कहा कि छात्रों पर सरकार की दमनकारी नीतियों के खिलाफ अब पूरे देश का युवा गोलबंद होकर लंबी लड़ाई लड़ेगी. एआईएसएफ जिला सचिव मन्नू कुमार ने कहा कि रेलवे भर्ती बोर्ड छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है. इस पूरे मसले पर रेलमंत्री एवं मोदी सरकार ने चुप्पी नहीं तोड़ी एवं मांगें पूरी नहीं हुई तो आरपार की लड़ाई लड़ी जायेगी. एआईएसएफ के जिला उपाध्यक्ष रफी अहमद एवं एजाज अख्तर ने कहा कि वर्तमान सरकार छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहा है.

विरोध प्रदर्षण में मुख्य रूप से एनएसयूआई छात्रनेता जितेंद्र कुमार, नवीन कुमार, मौशम झा, चितरंजन कुमार, रामलखन कुमार, आशीष कुमार, पिंटू पंडित, सुमन कुमार, पिंटू कुमार, मिथुन कुमार, गोपी कुमार, सतीश कुमार, मिथलेश कुमार, जितेंद्र कुमार जीतू, रामविलाश, प्रवीण, एआईएसएफ के नवीन निराला, नसीम, समसेर, इजराइल, एसएफआई के राजीव नारायण, मिठू कुमार, मन्नू कुमार, अमरेश कुमार, चंद्रकिशोर, संजीव, सौरव, प्रिंश समेत दर्जनों छात्र उपस्थित थे.

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें