दिन-दहाड़े बेखौफ अपराधियों ने पूर्व मुखिया व नर्सिंग होम संचालक की गोली मारकर की हत्या

728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : जिले के उदाकिशुनगंज अनुमंडल मुख्यालय में सोमवार को दिन-दहाड़े बेखौफ बदमाशों ने रामपुर खोड़ा पंचायत के पूर्व मुखिया, आशीर्वाद नर्सिंग होम के संचालक 55 वर्षीय ललन कुमार उर्फ लाल यादव को गोलियों से भून डाला, जिससे उनकी मौत हो गई। वारदात को अनुमंडल मुख्यालय के पटेल चौक नहर के पास स्थित उनके आशीर्वाद नर्सिंग होम परिसर में अंजाम दिया गया। वारदात के बाद आक्रोशित लोंगो ने मुख्यायलय के सभी चौक-चौराहे पर सड़क जाम कर टायर जलाकर विरोध प्रदर्शन किया। वहीं बाजार की दुकान को पूरी तरह बंद करा दिया। लोग हत्यारे की अविलंब गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। लोंगो का कहना है कि हत्यारे के बारे में पुलिस को जानकारी दी गई है, फिर भी पुलिस कार्रवाई में बिलंब कर रही है, जिससे लोंगो का आक्रोश बढ गया, गुस्साए लोग सड़क पर उतर गए।

मिली जानकारी के अनुसार आशीर्वाद नर्सिंग होम के संचालक व रामपुर खोड़ा पंचायत के पूर्व मुखिया हरैली गांव निवासी ललन कुमार उर्फ लाल यादव को बदमाशों ने गोली मार दी। गोली उसके सर और शरीर के अन्य हिस्सो में लगी है। करीब आधा दर्जन गोली शरीर में दागे जाने की बात बताई जा रही है। घटना के बाद वहाँ मौजूद लोंगो ने आनन-फानन में गंभीर हालत में लाल यादव को स्थानीय पीएचसी में भर्ती कराया, जहां उनकी गंभीर हालत को देखते हुए उसे भागलपुर के मायागंज अस्पताल रेफर कर दिया और ईलाज के लिए भागलपुर ले जाने के दौरान रास्ते में ही उन्होंने दम तोड़ दिया।

घटना क्यों और किसने अंजाम दिया, फिलहाल यह साफ नहीं हो पाया है। लेकिन कहा जा रहा है कि करीब आधा दर्जन की संख्या में हथियारबंद बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया। सभी अपराधी बाईक पर सवार होकर नहर के रास्ते भाग निकले। सूचना पर उदाकिशुनगंज के एसडीपीओ सतीश कुमार,  थानाध्यक्ष जयप्रकाश चौधरी व अन्य पुलिस अधिकारी पहुंचे। पुलिस ने मामले की तफ्तीश शुरू कर दी। पुलिस ने बताया कि जांच प्रक्रिया पूरी होने के बाद घटना की वास्तविकता सामने आ पाएगा। बहरहाल मामले में अग्रतर कार्रवाई की जा रही है। 

 जानकारी के अनुसार पूर्व मुखिया व आशीर्वाद नर्सिंग होम के संचालक लाल यादव रोजाना की तरह अपने नर्सिंग होम पर पहुंचे थे। वह नर्सिंग होम की देखरेख और व्यवस्था की जानकारी लेने के बाद क्लीनिक के बाहर टहल रहे थे। उसके कैंपस में अन्य दुकानें भी चलती है। वह परिसर के सैलून दुकान के बाहर खड़े थे। पहले से बदमाश घात लगाए नर्सिंग होम के इर्द-गिर्द घुम रहे थे। बदमाशों की संख्या आधा दर्जन के करीब बताया जा रहा है। सभी बदमाश बाईक पर सवार थे। अब लोग चर्चा कर रहे है कि बदमाश सिटिक निशाने की तलाश में थे। मौका हाथ लगते ही बदमाशों ने पूर्व मुखिया पर  ताबड़तोड़ फायरिंग की। चर्चा है कि एक साथ दो तीन बदमाश गोली चला रहे थे। गोली मारने के बाद बदमाश भाग निकले। लगातार फायरिंग की आवाज सुनकर लोग स्तब्ध रह गए, लोगो में भय समां गया, लोग इधर उधर भागने लगे। तुरंत में लोग कुछ समझ पाते तबतक बदमाश भाग निकले।

बाद में लोगों ने मुखिया को स्थानीय अस्पताल में पहुंचाया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद जख्मी को रेफर कर दिया गया। जहां भागलपुर ले जाने के दौरान रास्ते में ही उनकी मौत हो गई।  इधर वारदात से गुस्साए लोंगो ने मुख्यायलय के सभी चौक चौराहे पर सड़क जाम कर दिया। वहीं बाजार को भी बंद करा दिया। लोगों का कहना कि अनुमंडल क्षेत्र में लगातार अपराधिक वारदात हो रहे है। जिस पर अंकुश नहीं लग रहा है। लोंगो ने बढते अपराध के लिए पुलिस को जिम्मेवार ठहराया। लोग जिले के वरीय अधिकारी के मौके पर पहुंचने की मांग पर अड़े रहे। लोंगो का कहना है कि वरीय अधिकारी पहुंच कर हत्यारा की गिरफ्तारी का ठोष आश्वासन दे। वहीं लोंगो ने मुआवजे की भी मांग की है। घटना से लोगों में भाड़ी आक्रोश है,लोग पुलिस की कार्यशैली से खासे नाराज है। खबर लिखे जाने तक जाम जारी था।

कौनैन बशीर
वरीय उप संपादक