समारोह पूर्वक मनाई गई कमलेश्वरी बाबू की 120वीं जयंती

728x90
Spread the news

मुरलीगंज/मधेपुरा/बिहार : बीएनएमयु के अंगीभूत इकाई केपी काॅलेज के संस्थापक व संविधान सभा के सदस्य स्व कमलेश्वरी प्रसाद यादव की 120 वीं जयंती मंगलवार को समारोह पूर्वक मनाई गई। सबसे पहले अतिथियों ने स्व कमलेश्वरी बाबू की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उनकी समाधि स्थल पर पुष्प अर्पित किया उसके बाद  जयंती समारोह का दीप प्रज्ज्वलित कर उद्घाटन किया गया।

कार्यक्रम की शुरुआत में लोक गायिका मधुवाला भारती और सोनी कुमारी के द्वारा स्वागत गान प्रस्तुत किया गया। अपने संबोधन में प्राचार्य डॉ जवाहर पासवान ने जयंती समारोह में उपस्थित अतिथियों, अभिभावकों, छात्र-छात्राओं और प्रबुद्धजनों से महाविद्यालय के बेहतर उत्थान के लिए सहयोग की अपील की। उन्होंने कहा कि सबों के सहयोग से ही काॅलेज में शैक्षणिक माहौल कायम हो सकता है। जयंती समारोह में विशिष्ट अतिथि के रूप उपस्थित बीएनएमयु प्रति कुलपति डॉ आभा सिंह ने कहा कि सुदूर ग्रामीण क्षेत्र में शिक्षा का अलख जगाने के लिए स्व कमलेश्वरी प्रसाद यादव ने महाविद्यालय की स्थापना की थी। जिससे आस-पास क्षेत्र के युवा उच्च स्तरीय शिक्षा प्राप्त कर समाज को नयी दिशा दे सके। उन्होंने कहा कि शिक्षा एक अमूल्य निधि है, अभौतिक है। ज्ञान का अर्थ नवीनता होनी चाहिए। ज्ञान का विकास, गुरू के बिना संभव नही है। उन्होंने छात्र-छात्राओं को काॅलेज आकर कक्षा करने की बात कही।

पूर्व प्राचार्य डॉ राजीव रंजन ने कहा कि स्व कमलेश्वरी बाबू उच्च शिक्षा के प्रेमी थे। बहुआयामी प्रतिभा के धनी व्यक्ति थे। नपं मुख्य पार्षद श्वेतकमल बौआ ने कहा कि स्व कमलेश्वरी बाबू के व्यक्तित्व की जितनी प्रशंसा किया जाए वो कम होगा। इस दौरान बीएनएमयु के पूर्व कुलपति प्रो अनंत कुमार यादव, शिक्षक प्रो नागेंद्र प्रसाद यादव, पूर्व प्राचार्य डॉ राजीव मल्लिक, प्रो रामशरण यादव, प्रो शब्बीर अहमद, समाजसेवी ब्रह्मानंद जयसवाल ने स्व कमलेश्वरी बाबू के व्यक्तित्व और कृतित्व पर विचार व्यक्त करते हुए कहा कि संविधान सभा के सदस्य कमलेश्वरी बाबू जैसे महामानव जो समाज को नई दिशा देने का काम किया। ऐसे महापुरुष के बारे में कुछ भी बोलना सुर्य को दीपक दिखाने के समान  होगा। उद्घोषणा पृथ्वीराज यदुवंशी ने किया जबकि मंच संचालन प्रो प्रतिक कुमार ने की।

 गायक रौशन कुमार, गायिका रेखा यादव, मधुवाला भारती, संजय जलोटा ने अपने मधुर भजनों से अतिथियों को मंत्रमुग्ध किया। वहीं रवि राज ने बांसुरी वादन किया। मजेदार बात यह रही कि काॅलेज के विभिन्न संकायो में लगभग पांच हजार छात्र नामांकित है और काॅलेज संस्थापक की जयंती समारोह में छात्रों की उपस्थिति नगण्य देखी गई, जो महाविद्यालय परिवार के लिए बड़ा सवाल है।

मौके पर केपी काॅलेज आजीवन अधिषद सदस्य अभय कुमार यादव, बीएनएमयु पीआरओ डाॅ सुधांशु शेखर, डाॅ शंकर मिश्र, डाॅ महेंद्र मंडल, एनएसएस कार्यक्रम पदाधिकारी डॉ अमरेंद्र कुमार सहित काॅलेज के शिक्षक और शिक्षकेतर कर्मी मौजूद थे।

मिथिलेश कुमार
संवाददाता
मुरलीगंज, मधेपुरा

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें