मधेपुरा : जिलाधिकारी ने हरी झंडी दिखाकर राहत सामग्री वितरण वाहन को किया रवाना

728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : कोविड-19 की महामारी में जिले के जिन बच्चों के सिर से अभिभावकों का साया उठ गया उन बच्चों को राहत मुहैया कराया जाएगा। इसके लिए जिले के कुल 64 अनाथ बच्चों को चिन्हित किया गया। जिन्हें समाज कल्याण विभाग व केयर इंडिया के संयुक्त प्रयास से सुरक्षा व योजनाओं की सुविधा मुहैया कराई जाएगी।

सोमवार को मधेपुरा समाहरणालय परिसर से कोविड के कारण अनाथ हुए बच्चों के बीच राहत सामग्री किट वितरण के लिए जिलाधिकारी श्याम बिहारी मीणा ने जिले के विभिन्न प्रखंडों के लिए राहत सामग्री वाहन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। ये किट ऐसे बच्चों या उन परिवारों को दिया जा रहा है, जिनके माता- पिता या दोनों की मृत्यु कोविड के करण हो गई ।

मधेपुरा जिला अंतर्गत ऐसे कुल 64 बच्चों की सूची समाज कल्याण विभाग से प्राप्त हुई थी। सूची के अनुरूप इन बच्चों के अभिभावक को केयर इंडिया के प्रतिनिधियों के द्वारा बात चीत की गई और बात चीत के उपरांत ऐसे बच्चें कुल 20 परिवारों में पाये गये, इन 20 परिवारों में जिनके सदस्यों की संख्या पाँच (5) से अधिक है उनको दो किट और पाँच से कम सदस्यों वाले परिवार को एक किट दिया जाना है।

इसके लिए जिला समाज कल्याण विभाग और केयर इंडिया के सहयोग से जिले के आलमनगर, चौसा, बिहारीगंज, मुरलीगंज, कुमारखंड, मधेपुरा, घेलाढ, ग्वालपाड़ा, शंकरपुर, सिंहेश्वर और उदाकिशुनगंज प्रखण्ड में कुल 31 किट का वितरण किया जाना है।

मौके पर सिविल सर्जन डॉ ए० एन० शाही, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, आईसीडीएस मो० कबीर,   उप निदेशक  डीआरडीए, अभिषेक राज सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थिति थे ।

मो० नियाज अहमद
ब्यूरो, मधेपुरा

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें