व्यवसायी ने लूटपाट का किया विरोध तो मारी सिर में गोली, मौत

728x90
Spread the news

मुरलीगंज/मधेपुरा/बिहार : मंगलवार की रात करीब दस बजे पड़वा नवटोल नहर से पश्चिम मुरलीगंज-मधेपुरा एनएच 107 पर कार सवार अपराधियों ने लूटपाट करने के दौरान एक किराना व्यवसायी को गोली मार दिया। बताया गया कि किराना व्यवसायी बोलोरो पिकअप बीआर 11 जे 8933 पर पूर्णियाँ के गुलाबबाग से किराना समान लेकर लौट रहे थे, उसी दौरान यह हादसा पेश आया ।

इधर घटना की सूचना मिलते ही मौके वारदात पर पहुंची स्थानीय पुलिस द्वारा  घायल व्यवसायी को इलाजके लिए सदर अस्पताल मधेपुरा लाया जा रहा था, लेकिन रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। बोलेरो पिकअप के चालक सत्यनारायण मंडल के अनुसार छापेमारी के दौरान पुलिस ने एक कार को जब्त कर तीन युवक को हिरासत में लिया है। लेकिन फिलहाल पुलिस कुछ भी बताने से इंकार कर रही है।

बताया गया कि इस घटना में सोनवर्षा प्रखंड के बसनही थाना क्षेत्र के बड़सम वार्ड 3 निवासी 45 वर्षीय सुनिल कुमार केसरी  की अपराधी की गोली से मौत हुई है। सुनिल कुमार केसरी सोनवर्षा प्रखंड के मंगवार बाजार में किराना के थौक व खुदरा दुकानदार थे। मंगलवार को बोलेरो पिकअप वैन से चालक सत्यनारायण मंडल के साथ पूर्णियाँ के गुलाबबाग मंडी से किराना समान लौट रहे थे। इसी बीच पड़वा नवटोल नहर से पश्चिम नवनिर्मित पुल के पास ब्लू रंग के अल्टो कार से अपराधियों ने ओवरटेक कर पिकअप को रोकाऔर गाली गलौज करते हुए रूपया की मांग किया। व्यवसायी द्वारा विरोध करने पर गोली मार दिया। तब तक चालक अंधेरे का फायदा उठाकर जान बचाकर भाग निकला । चालक ने बताया कि चार पांच की संख्या में कार पर अपराधी सवार थे। उधर मृतक व्यवसायी के घर मातमी माहौल गमगीन है। 

मालूम हो कि मुरलीगंज मे लगातार बढ़ रही अपराधिक  घटनाओं  से स्थानीय लोग दहशत में  है। प्रतिदिन छोटी बड़ी घटना क्षेत्र में हो रही है। इसपर अंकुश लगाने मे स्थानीय पुलिस प्रशासन विफल साबित हो रही है। वही लोगों ने  लूट, चोरी और छीनतई की बढ़ती घटनाओं को लेकर पुलिसिया कार्रवाई पर असंतोष जताया है। साथ ही बताया कि किसी भी घटना का सही तरीके से उद्भेन नही किया जाता है। शहर के अलावे ग्रामीण क्षेत्र मे भी अपराधी घटना लगातार बढ़ रही है। बीते दो तीन माह मे लूट, चोरी, हत्या, अपहरण, डिक्की तोड़ने के अलावे छिनतई की दर्जनो घटना हुई है। इन सभी घटनाओ मे देशी कट्टा व रेसिंग बाइक का इस्तेमाल बहुत होने लगा है। 

मिथिलेश कुमार
संवाददाता
मुरलीगंज, मधेपुरा

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें