वोटर आईडी कार्ड नहीं है तो मतदाता न हो परेशान, पढ़ें इस खबर को  

728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : बुधवार को होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए दूसरे चरण में जिले में सदर प्रखंड में होने वाले 17 पंचायत के जिला परिषद सदस्य, पंचायत समिति सदस्य, ग्राम पंचायत मुखिया, ग्राम कचहरी सरपंच, वार्ड सदस्यों एवं पंचों के 450 पदों के चुनाव के लिए जिला पदाधिकारी सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी श्याम बिहारी मीणा एवं पुलिस अधीक्षक योगेंद्र कुमार ने संयुक्त रूप से जिला मुख्यालय स्थित मधेपुरा महाविद्यालय मधेपुरा परिसर में सदर प्रखंड क्षेत्र के पीसीसीपी टीम को चुनावी पाठ पढ़ाया.

इस बीच पीसीसीपी टीम को ईवीएम व वीवीपैट प्राप्त करने से लेकर उन्हें मतदान केंद्र पर पहुंचाने व मतदान के दौरान पीसीसीपी, सेक्टर व माइक्रो आब्जर्वर के कार्यों के बारे में विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराई गई. जिसके बाद सभी पीसीसीपी टीम को ईवीएम एवं वीवीपैट देकर उनको उनके क्षेत्र के लिए रवाना किया गया.

450 पदों के प्रत्याशियों का भविष्य तय करेंगे मतदाता : मालूम हो कि बुधवार को सदर प्रखंड के 17 पंचायत के लिए जिला परिषद सदस्य, पंचायत समिति सदस्य, ग्राम पंचायत मुखिया, ग्राम कचहरी सरपंच, वार्ड सदस्यों एवं पंचों के 450 पदों के लिए मतदान किया जायेगा. जिसमें सदर प्रखंड में जिला परिषद सदस्य के लिए दो, पंचायत समिति सदस्य के लिए 22, ग्राम पंचायत मुखिया के लिए 17, ग्राम कचहरी सरपंच के लिए 17, वार्ड सदस्य के लिए 230 एवं पंच के लिए 230 पदों के प्रत्याशियों का मतदाता भविष्य तय करेंगे.

सदर प्रखंड क्षेत्र में बनाये गए हैं 240 मतदान केंद्र : त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए जिला प्रशासन ने सारी तैयारियां पूरी कर ली है. मतदान का समय सुबह सात बजे से पांच बजे संध्या तक निर्धारित है. निष्पक्ष चुनाव संपन्न कराने के लिए बूथों पर सेंट्रल पारा मिलिट्री फोर्स, बाइक कमांडो दस्ता, पुलिस बल सहित अन्य जवानों को तैनात किया गया है. सदर प्रखंड क्षेत्र में कुल 240 मतदान केंद्र बनाये गये हैं. इनमें 230 मूल मतदान केंद्र हैं एवं 10 सहायक मतदान केंद्र हैं.

वोटर आईडी कार्ड नहीं होने पर मतदाता न हो परेशान : मतदान के लिए चुनाव आयोग से जारी वोटर आईडी कार्ड यदि किसी वजह से मतदाता के पास नहीं है और मतदाता वोट डालना चाहते हैं, तो मतदाता को परेशान होने की जरूरत नहीं है. मतदाता बिना वोटर आईडी के भी वोट डाल सकते हैं. बिना वोटर आईडी कार्ड वोट डालने के लिए मतदाता का नाम वोटर लिस्ट या निर्वाचन सूची में मतदाता के तौर पर शामिल होना जरूरी है. डीएम ने बताया कि मतदाता के पास वोटर कार्ड नहीं है तो भी वह अन्य 11 तरह के पहचान पत्रों को दिखाकर मताधिकार का प्रयोग कर सकता है. मतदाता सूची में जिसका नाम है, वह मताधिकार का प्रयोग कर सकता है. मतदाता सूची में नाम दर्ज होने के बाद ही मतदान करने का अधिकार होगा.

मतदान के लिए वैकल्पिक दस्तावेज : पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, राज्य अथवा केंद्र व सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम या पब्लिक लिमिटेड कंपनी के द्वारा जारी किये गये अपने कर्मी के फोटो पहचान पत्र, बैंक व डाकघर द्वारा जारी फोटो पहचान पत्र, पैन कार्ड, आरजीआइ, एनपीआर द्वारा जारी किये गये स्मार्ट कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, श्रम मंत्रालय योजना अंतर्गत जारी स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, फोटो युक्त पेंशन दस्तावेज, निर्वाचन आयोग द्वारा प्रमाणित फोटो मतदाता पर्ची, सांसद विधायक या विधान पार्षद को जारी किये गये सरकारी पहचान पत्र

मतदान केंद्रों पर उपलब्ध की गई है सारी सुविधा : मतदान केंद्रों पर मतदाताओं के लिए रैंप की व्यवस्था, शुद्ध पेयजल, रोशनी की व्यवस्था, हेल्प डेक्स की व्यवस्था महिला एवं पुरूष के लिए अलग-अलग शौचालय की व्यवस्था की गई है. जिले के सभी मतदान केंद्र पर मतदाताओं के लिए सारी सुविधाओं की व्यवस्था की गयी है. जिससे मतदान के समय किसी भी मतदाता को कोई परेशानी न हो.

समस्या होने पर नियंत्रण कक्ष में करें संपर्क : मदतान को शांतिपूर्ण ढंग से कराने के उद्देश्य से कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है. जिला पदाधिकारी सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी श्याम बिहारी मीणा ने बताया कि चुनाव में तैनात सुपर जोनल मजिस्ट्रेट, जोनल मजिस्ट्रेट, सेक्टर दंडाधिकारी, पोलिग पार्टी या आम मतदाता किसी भी जानकारी या समस्या के लिए कंट्रोल रूम पर वार्ता कर सकते हैं. सभी सेक्टर से दंडाधिकारी हर घंटे सूचना देते रहेंगे. सभी शिकायतों का समाधान किया जायेगा.

ब्रज गृह की सुरक्षा की है कड़ी व्यवस्था : जिले के 13 प्रखंड 160 पंचायतों के जिला परिषद सदस्य, पंचायत समिति सदस्य, ग्राम पंचायत मुखिया, ग्राम कचहरी सरपंच, वार्ड सदस्यों एवं पंचों के 4762 पदों के चुनाव के लिए जिला मुख्यालय स्थित ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय को बज्र गृह बनाया गया है. बुधवार को मतदान के बाद सदर प्रखंड क्षेत्र के सभी आये इवीएम को ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय में बने बज्र गृह में जमा किया जायेगा. बज्र गृह की सुरक्षा की व्यवस्था भी पुख्ता की गयी है. बज्रगृह भवन परिसर के चारों ओर से  सुरक्षाकर्मी चौबीस घंटे नजर रखेंगे. चौबीस घंटे रोशनी के लिए भी बेहतर प्रबंध किया गया है.

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें