कोविड से पत्रकारों की हुई मौत पर 15 लाख मुआवजा व सरकारी नौकरी दे सरकार : कौनैन बशीर

Photo : www.therepublicantimes.co
728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन मधेपुरा जिला अध्यक्ष कौनैन बशीर ने देश के प्रधानमंत्री और बिहार के मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कोरोना से हुई पत्रकारों की मौत पर परिजनों को 15 लाख मुआवजा दिए जाने के साथ ही उनके आश्रितों को सरकारी नौकरी देने की मांग की है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लिखे पत्र में इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष कौनैन बशीर ने कहा कि कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के दौरान पत्रकारों की अहम भूमिका है। पत्रकार साथी जान-जोखिम में डालकर आम जनता तक खबरों को पहुंचाने के लिए दिन रात मेहनत करते है। इस दौरान कई पत्रकार साथियों की कोरोना की चपेट में आने के कारण मौत हो चुकी है। बीते दिनों भी प्रभात खबर मधेपुरा के पत्रकार पिंटू भगत की कोरोना के कारण मौत हो गई।

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस ने दुनिया भर में एक बड़ा स्वास्थ्य मसला खड़ा किया है। और आम जनता में जागरूकता पैदा करने में पत्रकार अहम भूमिका निभाते हैं। वे अपने पेशेवर कर्तव्यों को निभाने के लिए मुश्किल हालत में काम कर रहे हैं। मालूम हो कि पत्रकार साथी की अनायास मौत हो जाती है तो पत्रकार के परिजन सड़क पर आ जाते है। इसे मीडिया घराने की ओर से भी कोई मुआवजा नहीं दिया जाता है। ऐसे विकट परिस्थिति में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी,  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा  कोविड – 19 से पत्रकारों की हुई मौत पर उसके परिजनों को 15 लाख मुआवजा दी जाय। इसके साथ पत्रकार सुरक्षा कानून को अविलंब लागू किया जाय।


Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें