BNMU :दर्शन परिषद बिहार के 42वां वार्षिक अधिवेशन की तैयारी जारी, देश के तीन सौ प्रतिभागियों ने कराया पंजीयन

www.therepublicantimes.co
फ़ोटो : द रिपब्लिकन टाइम्स
728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय अंतर्गत ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय में पांच से सात मार्च तक आयोजित होने वाले दर्शन परिषद बिहार के 42 वां वार्षिक अधिवेशन की तैयारी जारी है. मानव संसाधन विकास मंत्रालय.भारत सरकार के अंतर्गत संचालित भारतीय दार्शनिक अनुसंधान परिषद नई दिल्ली द्वारा संपोषित इस अधिवेशन का केंद्रीय विषय शिक्षा समाज एवं संस्कृति है. इस पर देश के कई राज्यों के वरिष्ठ प्राध्यापक, शोधार्थी एवं छात्र-छात्राएं गहन विचार-विमर्श करेंगे.

25 फरवरी तक स्वीकार किये जायेंगे पंजीकरण व आलेख :  आयोजन सचिव सह जनसंपर्क पदाधिकारी डा सुधांशु शेखर ने बताया कि अधिवेशन की तैयारियां जारी है. इंटर एवं मैट्रिक परीक्षा की समाप्ति के बाद इसे अंतिम रूप दिया जायेगा. यह अधिवेशन ऑफलाइन एवं ऑनलाइन दोनों रूपों में आयोजित होगा. इसमें कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए मात्र पचास बाह्य प्रतिभागियों को ही आमंत्रित किया गया है एवं उनके लिए ही आवास की व्यवस्था की गई है. शेष प्रतिभागी गूगल मीट एवं यू-ट्यूब के माध्यम से अधिवेशन में भाग ले सकेंगे. सभी प्रतिभागियों को उनके पते पर रजिस्टर्ड डाक से निःशुल्क स्मारिका एवं प्रमाण पत्र भेज दिया जायेगा. सभी प्रतिभागियों को ऑनलाइन गूगल फार्म भरना होगा. जिन प्रतिभागियों ने पूर्व में पंजीयन करा लिया है, उनके लिए भी गूगल फार्म भरना ज़रूरी होगा. ऑनलाइन पंजीकरण एवं आलेख तथा शोध-सारांश भेजने की अंतिम तिथि 25 फरवरी तक बढ़ा दी गई है.

advertisement

देश के तीन सौ प्रतिभागियों ने कराया पंजीयन : ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय के प्राचार्य डा केपी यादव ने बताया कि यह अधिवेशन बीएनएमयू में पहली बार होने जा रहा है. इसमें भाग लेने के लिए देश के लगभग तीन सौ शिक्षकों, शोधार्थियों एवं छात्र-छात्राओं ने अपना पंजीयन कराया है. इसमें कोसी एवं सीमांचल के अतिरिक्त भागलपुर, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, पटना, आरा, गया, धनबाद, रांची, वाराणसी, गोरखपुर, इलाहाबाद, लखनऊ, कोलकाता, नई दिल्ली, वर्धा, सागर, जोधपुर आदि जगहों के प्रतिभागी शामिल हैं.

राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री को भेजा गया अनुरोध पत्र :  अधिवेशन के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित साह, बिहार के राज्यपाल फागू चौहान, उर्जा मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव, बीएनएमयू कुलपति प्रो डा राम किशोर प्रसाद रमण एवं प्रति कुलपति प्रो डा आभा सिंह सहित कई गणमान्य राजनेताओं एवं विद्वानों का शुभकामना-संदेश प्राप्त हो चुका है. महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सहित अन्य गणमान्य राजनेताओं एवं शिक्षाविदों को भी शुभकामना-संदेश के लिए अनुरोध पत्र भेजा गया है.

दस सत्रों में संपन्न होगा त्रिदिवसीय अधिवेशन कार्यक्रम :  यह त्रिदिवसीय अधिवेशन दस सत्रों में संपन्न होगा. प्रथम दिन उद्घाटन समारोह के अलावा बारह विद्वानों का विशेष व्याख्यान होगा. दूसरे दिन पांच विभागों (समाज दर्शन, धर्म दर्शन, नीति दर्शन, तत्वमीमांसा एवं ज्ञानमीमांसा) के अंतर्गत शोध-पत्र प्रस्तुत किये जायेंगे. तीसरे दिन बिहार की दार्शनिक एवं सांस्कृतिक विरासत एवं गांधी 150 : विमर्श एवं विकल्प विषयक दो संगोष्ठियां आयोजित की जायेगी. साथ ही समापन समारोह होगा. पहले एवं दूसरे दिन अतिथियों के सम्मान में सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए जायेंगे. इसमें इप्टा, प्रांगण रंगमंच, सृजन दर्पण, नवाचार रंगमंडल, शिव राजेश्वरी युवा सृजन क्लब, राधाकृष्ण संगम ट्रस्ट, राष्ट्रीय कला मंच आदि की चुनिंदा प्रस्तुतियां होंगी.

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें