BNMU : बीएड ऑन स्पॉट एडमिशन धांधली के खिलाफ एआईएसएफ ने पुतला दहन कर किया आंदोलन का आगाज

728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय को लगातार बदनाम करने की साज़िश चल रही है. मुख्यालय का बीएड विभाग काला ध्ब्बा साबित हो रहा है.

ख़बर से संबंधित वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें  

advertisement

उक्त बातें वाम छात्र संगठन एआईएसएफ के राष्ट्रीय परिषद सदस्य सह बीएनएमयू प्रभारी हर्ष वर्धन सिंह राठौर ने संगठन की विश्वविद्यालय इकाई द्वारा विश्वविद्यालय मुख्य द्वार पर पुतला दहन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही. उन्होंने कहा कि संगठन लगातार विश्वविद्यालय मुख्यालय बीएड में हुए  ऑन स्पॉट नामांकन में धांधली व रोस्टर की अनदेखी को लेकर साक्ष्य प्रस्तुत कर कारवाई की मांग करता रहा, लेकिन विश्वविद्यालय ने मौन रखकर यह प्रमाणित किया कि वरीय पदाधिकारियों की गर्दन भी कहीं न कहीं इस प्रकरण में फंसी हुई है. संगठन अब इस मुद्दे को लेकर आरपार को तैयार है. इसी कड़ी में पुतला दहन के साथ आंदोलन का आगाज किया गया है. इस कड़ी में अन्य आंदोलनों के संग धरना व आमरण अनशन भी शुरू किया जायेगा और पहल नहीं होने तक विश्वविद्यालय मुख्यालय के बीएड विभाग में अनिश्चितकालीन ताला बंदी भी किया जायेगा.

पुतला दहन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए युवा संगठन के राष्ट्रीय परिषद सदस्य शंभू क्रांति ने कहा कि बीएनएमयू पूरी तरह से विवादों का केंद्र बन कर रह गया है. लगातार इसकी छवि धूमिल होती जा रही है. भ्रष्टाचार व धांधली आम बात हो गई है. प्रतिभावान छात्र सारी अहर्ता पूरी करने के बाद भी सड़क पर है और कम अंक वाले वरीय पदाधिकारियों के संबंधी का नामांकन हो गया है, जो दुखद व निंदनीय है. उन्होंने कहा कि इस प्रकरण से जुड़ी अनेकानेक साक्ष्य संगठन के पास है, जिसको लेकर आंदोलन को और बड़े स्तर पर ले जाया जायेगा. पुतला दहन कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए संगठन के राज्य परिषद सदस्य सह संयुक्त जिला सचिव सौरभ कुमार ने कहा कि बीएनएमयू में साक्ष्य के बाद भी कार्रवाई नहीं होना सर्वाधिक दुखद पहलू है. इसको लेकर अविलंब पहल नहीं हुई तो छात्रों के भविष्य को दांव पर लगाने वाला यह विभाग, कम शिक्षक व कर्मियों की कमी के कारण ब्लैक लिस्टेड भी हो सकता है. उन्होंने कहा कि संगठन ने लोकतांत्रिक तरीके से लगातार साक्ष्य के साथ कार्रवाई की मांग की. कारवाई नहीं होने पर आंदोलन अब विवशता बन गई है. उन्होंने कहा कि जरुरत पड़ने पर संगठन कोर्ट का दरवाजा खट-खटायेगा.

छात्र नेता सौरभ कुमार ने पीड़ित छात्रों से अपील किया कि किसी स्तर पर वो परेशान न हो, संगठन उनके लिए न्याय को लेकर हर स्तर पर आर-पार करने को कमर कस चुका है. पुतला दहन कार्यक्रम में अतुल कुमार अंजान, आशुतोष, रमन कुमार, मन्नू, अभिषेक नीतीश, गुलशन, गोलू राज उर्फ दिव्यांशु, सास्वत आदि उपस्थित रहे.

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें