तुगलकी फरमान वापस ले नीतीश सरकार, नहीं तो मुख्यमंत्री आवास के सामने करूँगा आत्मदाह

www.therepublicantimes.co
फ़ोटो : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पुतला दहन ऑल इंडिया स्टूडेंट यूनियन के कार्यकर्ता
728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : गुरुवार को ऑल इंडिया स्टूडेंट यूनियन के विश्वविद्यालय अध्यक्ष सौरभ कुमार व जिलाध्यक्ष राहुल के नेतृत्व में जिला मुख्यालय स्थित कॉलेज चौक पर राज्य सरकार के द्वारा तुगलकी फरमान जारी करने के उपरांत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पुतला दहन किया गया.

ख़बर से संबंधित वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

मौके पर मौजूद ऑल इंडिया स्टूडेंट यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ई मुरारी कुमार ने कहा कि आज जब इतिहास का सबसे उबाऊ-बिकाऊ बजट पर प्रतिक्रिया देने का समय था तो उस समय अपनी नाकामी छुपाने के लिए नीतीश कुमार इस तरह का एक पर एक तुगलकी फरमान जारी कर रहे हैं. अब नीतीश कुमार को भी पता है कि कि जनता ये भाजपा-आरएसएस एवं संघी विचारधारा की नीयत को समझ चुकी है. जो नीतीश कुमार 15 सालों से इनके साथ मे रहकर सिर्फ कुर्सी कुमार बनकर रह गये हैं. इस बार जब 19 लाख सरकारी नोकरी देने के वादा के बाद बनी सरकार, अब जब रोजगार देने की बारी आई है तो बार-बार कुछ से कुछ फरमान जारी कर रही है. पहले इन्होंने कहा कि मेरा विरोध सोशल मीडिया पर मत करो, अब कह रहे हैं कि कोई आवाज मत उठाओ. आप रोड जाम करेंगे या धरना प्रदर्शन करेंगे तो आपको सरकारी नोकरी नहीं मिलेगा. एक तो यह सरकार किसी को नोकरी देने नहीं जा रही है, उल्टे दबाब डाल रही है. अब कोई नोकरी भी नहीं मांगेंगे.

मुरारी कुमार ने कहा कि आज तो सिर्फ पुतला दहन किया गया है, आगे चलकर यह दोनों फरमान वापस नहीं होता है तो हमलोग उग्र आंदोलन करेंगे. आंदोलन करने या विरोध करने के उपरांत किसी भी छात्र को सरकारी नोकरी से वंचित किया जाता है तो सबसे पहले हम मुख्यमंत्री आवास के आगे में आत्मदाह करेंगे और मेरे हत्या का दोषी मुख्यमंत्री होंगे.

मौके पर मनीष कुमार, पुष्पक कुमार, राजा यदुवंशी, ऋतिक कुमार, गौरव कुमार, शैलेंद्र कुमार, चंदन कुमार, दर्शित कुमार, रोहित कुमार, विवेक कुमार, रूपेश कुमार, जागृत पुष्कर, अमोद कुमार आदि दर्जनों एआईएसयू कार्यकर्ता मौजूद थे.

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें