बढ़ते अपराध के खिलाफ NSUI ने मुख्यमंत्री का पुलता फूंका

पूरे बिहार में एनएसयूआई कार्यकर्ता मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला दहन कर, यह संदेश दे रही है कि बिहार में कानून व्यवस्था में सुधार, अपराधियों पर नकेल एवं नशा के व्यापार पर रोक नहीं लगाता है तो एनएसयूआई बड़ा जनांदोलन करेगी.

मुख्यमंत्री का पुतला दहन करते NSUI कार्यकार्ता
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : गुरुवार को जिला मुख्यालय के कॉलेज चौक पर एनएसयूआई ने बिहार में बढ़ते अपराध एवं खत्म हो रही कानून व्यवस्था के विरोध में जिलाध्यक्ष निशांत यादव के नेतृत्व में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला दहन किया. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला दहन करते हुए एनएसयूआई कार्यकर्ताओ ने घंटों नारेबाजी किया.

 मौके पर जिलाध्यक्ष निशांत यादव ने कहा कि बिहार में जंगलराज है. कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है. अपराधी बेखौफ घूम रहे हैं. बिहार की आवाम खुद को अपने घरों में भी सुरक्षित महसूस नहीं कर रही है. छात्रा-महिलायें सड़को पर निकलने से डर रही है. आये दिन लूट, हत्या एवं  बलात्कार की खबरों से अखबार के पन्ने स्याह हो रहे हैं, लेकिन सत्ता में बैठे लोग संवेदनहीन बनी हुई है. उन्हें केवल अपनी कुर्शी एवं सत्ता की पड़ी है. निशांत यादव ने कहा कि डबल इंजन की सेटिंगबाज सरकार बिहार की आवाम को सुरक्षा की गारंटी देने में नाकाम साबित हो रही है. हथियार एवं नशा का व्यापार चरम पर है. सड़कों पर हमेशा महिलायें असामाजिक तत्वों के अभद्रता का शिकार हो रही है, लेकिन सरकार कुंभकर्णी नींद ने सोई हुई है. पूरे बिहार में एनएसयूआई कार्यकर्ता मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला दहन कर, यह संदेश दे रही है कि बिहार में कानून व्यवस्था में सुधार, अपराधियों पर नकेल एवं नशा के व्यापार पर रोक नहीं लगाता है तो एनएसयूआई बड़ा जनांदोलन करेगी.

ये भी पढ़ें : मधेपुरा का  एक बड़ा दवा व्यापारी निकला नशीली दवाइयों का तस्कर, 11 पर प्राथमिकी दर्ज, दो गिरफ्तार

विरोध प्रदर्शन में मुख्य रूप से नीरज यादव, हिमांशु राज, जितेंद्र कुमार, रौशन राज, अरमान अली, पुरुषोत्तम कुमार, शिवशंकर, रूपेश यादव, नवीन कुमार, सिकंदर, गोपी, छोटू, आशीष, संतोष, नीतीश, दीपक, हरिभजन, निरंजन, सुजीत, रौशन कुमार, विद्यानंद, पुष्पम, नीतीश, सुजीत समेत दर्जनों एनएसयूआई छात्र नेता मौजूद थे.

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

Spread the news
advertise

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें