5 डिसमिल जमीन की मांग को लेकर तीन दिनों से इस्लामपुर प्रखंड कार्यालय पर डेरा डालकर बैठे भूमिहीन परिवार

Spread the news

मुर्शीद आलम
नालंदा ब्यूरो
बिहार

नालंदा/बिहार : जिले के इस्लामपुर प्रखंड सह अंचल कार्यालय पर भूमिहीन गरीबों के द्वारा और इस्लामपुर पंचायत 6 के महादलित परिवारों के घरों पर सड़क निर्माण हेतु प्रशासन के द्वारा चलाए गए बुलडोजर से हुए बेघर सभी गरीब महादलित परिवार प्रखंड सह अंचल कार्यालय में घेरा डालो-डेरा डालो कार्यक्रम का आयोजन कर इस्लामपुर प्रखंड सह अंचल कार्यालय का मुख्य दरवाजा पर बांस बल्ला लगाकर बंद कर धरना प्रदर्शन तीसरे दिन भी जारी रहा।

महादलित परिवारों का कहना है कि राज्य सरकार के द्वारा गरीब भूमिहीनों को 5 डिसमिल जमीन देने का वादा किया था जिसका क्या हुआ। इस अवसर पर भाकपा माले के वरिष्ठ नेता उमेश पासवान ने कहा कि गरीबों को पांच-पांच डिसमिल निवास के लिए जमीन देने का ढिंढोरा पीटने वाली नीतीश सरकार ने किया था, लेकिन गरीबों को जमीन देने के बजाय नदी के तटबंध पर बस रहे महादलित परिवारों को सड़क निर्माण हेतु बुलडोजर चलाकर बेघर कर दिया गया है। राज्य सरकार को पहले गरीबों के निवास के लिए वैकल्पिक व्यवस्था करने की जरूरत थी फिर गरीबों के मकान को सड़क निर्माण हेतु तोड़ने का कार्य को आरंभ करना चाहिए था लेकिन प्रशासन के द्वारा ऐसा नहीं करने से आज महादलित गरीब परिवार 3 दिनों से लगातार प्रखंड सह अंचल कार्यालय पर घेरा डालो डेरा डाले हैं और खुले आसमान के नीचे रहने को मजबूर हैं।


Spread the news
advertise

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें