नालंदा : सिंचाई विभाग के प्रधान सचिव ने मरांची से घोड़ा कटोरा तक गंगा जल उद्वह योजना के निर्माण कार्य की प्रगति का किया निरीक्षण

728x90
Spread the news

मुर्शीद आलम
नालंदा ब्यूरो
बिहार

नालंदा/बिहार : जिला के गिरियक प्रखण्ड स्थित गंगाजल उद्वह योजना के तहत बरसात के मौसम में गंगाजल को पाइप लाइन के माध्यम से नालंदा जिला के घोड़ा कटोरा एवं गया जिला तक ले जाने की परियोजना पर सिचाई विभाग द्वारा तेजी से कार्य किया जा रहा है।

शुक्रवार को सिंचाई विभाग के प्रधान सचिव चैतन्य प्रसाद ने पटना जिला के मराँची से सरमेरा होते हुए घोड़ा कटोरा तक संपूर्ण पाइपलाइन मार्ग का निरीक्षण किया तथा कार्य प्रगति को देखा।इस परियोजना के तहत 107 किलोमीटर लंबी पाइपलाइन बिछाई जा रही है। जिसके माध्यम से बरसात के मौसम में सरप्लस गंगाजल को पाइप लाइन के माध्यम से नालंदा जिला के घोड़ा कटोरा एवं गया जिला में निर्माणाधीन कृत्रिम जलाशयों में भंडारित किया जायेगा।प्रधान सचिव ने पाइपलाइन बिछाने के कार्य में तेजी लाने का निदेश दिया।जहाँ भी जमीन से संबंधित मामला है, इसका त्वरित निदान निर्धारित प्रक्रिया के तहत सुनिश्चित करने को कहा गया।

advertisement

निरीक्षण के क्रम में प्रधान सचिव ने घोड़ा कटोरा में निर्माणाधीन कृत्रिम जलाशय के कार्यस्थल पर भी कार्य की प्रगति का जायजा लिया तथा विभाग के अभियंताओं को कार्य में तेजी लाने का निदेश दिया।इस परियोजना को सितंबर 2021 तक पूर्ण करने का लक्ष्य विभाग द्वारा निर्धारित किया गया है।परियोजना के लिए आवश्यक भू-अर्जन का कार्य जिला प्रशासन नालंदा द्वारा तेजी से किया गया है। कुछ खंड में पाइपलाइन बिछाने के लिए अतिरिक्त आवश्यक भू अर्जन की प्रक्रिया तेजी से की जा रही है।

इस अवसर पर जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह, जिला भू अर्जन पदाधिकारी विकास कुमार, सिंचाई विभाग के वरीय अभियंता गण, अधीक्षण अभियंता, कार्यपालक अभियंता सहित संवेदक प्रतिनिधि आदि उपस्थित थे।


Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें