सुपौल : केवाईसीसी टी 20 क्रिकेट टूर्नामेंट के फाइनल मैच में खैरा गढिया नरपतगंज की टीम ने मारी बाजी

728x90
Spread the news

रियाज खान
संवाददाता
छातापूर/सुपौल

छातापुर/सुपौल/बिहार : प्रखंड के कटहरा पंचायत वार्ड संख्या 11 व 12 स्थित मसीहूल उलूम मैदान में आयोजित केवाईसीसी टी 20 क्रिकेट टूर्नामेंट का फाइनल मैच गुरूवार को खेला गया, फाइनल मैच में खैरा गढिया नरपतगंज की टीम ने सोहटा की टीम को 28 रनों से पराजित कर विजेता कप पर कब्ज़ा जमा लिया।

विजेता टीम के ऑलराउंर टुनटून विराजी ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए छः छक्के और 11 चौके की मदद से 96 रनों की पारी खेली, श्री बिराजी को मैन ऑफ दि मैच घोषित किया गया, जबकि उप विजेता टीम सोहटा के खिलाड़ी सरफराज आलम मैन ऑफ दि सिरीज रहे। फाइनल मैच के बाद पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन किया गया, जिसमें में मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद जनअधिकार पार्टी लोकतांत्रिक के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष संजीव मिश्रा ने विजेता टीम को ट्रॉफी प्रदान किया, वहीं छातापुर थानाध्यक्ष अभिषेक अंजन के द्वारा उप विजेता टीम को रनर कप प्रदान किया गया। श्री मिश्रा ने विजेता और उप विजेता टीम को नगद राशि से भी पुरस्कृत किया, उन्होंने कहा कि क्रिकेट खेल की लोकप्रियता किशोर और यूवा वर्ग के बीच बढ़ता ही जा रहा है, यही कारण है कि अब ग्रामीण स्तर पर भी टूर्नामेंट का आयोजन भव्य रूप से हो रहा है, इस प्रकार के आयोजन से ग्रामीण स्तर पर छूपे प्रतिभाओं को निखरने का मौका मिलता है।

 श्री मिश्रा एवं थानाध्यक्ष श्री अंजन ने टूर्नामेंट को सफल बनाने के लिए आयोजन कर्ताओं की प्रशंसा करते उन्हें बधाई दी।

 खेल प्रेमियों की भारी मौजूदगी के बीच खैरा गढ़िया की टीम ने टाॅॅॅस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित ओवर में आठ विकेट खोकर 175 रनों का सम्मानजनक स्कोर खङा किया, जिसके जवाब में बल्लेबाजी करने उतरी सोहटा की टीम 20 ओवर में नौ विकेट खोकर 147 रन ही बना सकी, टूर्नामेंट में निर्णायक की भूमिका में मो तबरेज आलम एवं मो साबीर थे, जबकि तनवीर आलम उद्घोषक की भूमिका निभा रहे थे, वहीं स्कोरर की जिम्मेवारी मुमताज आलम व नौरेज आलम के जिम्मे थी।

मौके पर पुष्पराज मोंटी, सुभाष कुमार यादव, राजु खान, संजीत राय, दीपक दिलवर आदि भी थे, आयोजन कमेटी के अध्यक्ष मो आलमीन, सचिव मो मोनाजिर, कोषाध्यक्ष मो तनवीर आलम के अलावे मो शमीम, मो राजा, मो साहेब, मो सलाउद्दीन की टूर्नामेंट को सफल बनाने में सराहनीय भूमिका रही।