मधेपुरा : मानवाधिकार दिवस पर उदाकिशुनगंज उपकारा में विचार गोष्ठी का आयोजन

728x90
Spread the news

कौनैन बशीर
वरीय उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस के अवसर पर गुरुवार को उदाकिशुनगंज अनुमंडल मुख्यालय स्थित उपकारा में विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। बंदियों को अधिकार और कर्तव्य के बारे में बताया गया।

उप कारा अधीक्षक डॉ दीपक कुमार ने इस अवसर पर कहा कि जेल के नियमों के तहत जेल में प्राप्त समस्त सुविधाएं बंदियों के मानवाधिकार के तहत आती हैं। यदि किसी भी बंदी को कोई दिक्कत हो तो वे एक फॉर्म भर कर जेल अधीक्षक को उपलब्ध कराएं। उन्होंने कहा कि अधिकार के साथ-साथ दायित्व का बोध होना चाहिये। मानवाधिकार मौलिक अधिकार में आता है, जो अपने विचारों को प्रकट करने का अधिकार है।

कहा कि कानून की नजर में सभी बराबर हैं। अधिकार के साथ-साथ कर्तव्य का ज्ञान भी सबको होना चाहिए। व्यक्ति अधिकार वहीं तक है, जिससे दूसरे के अधिकार को छीना नहीं जा सके। वही जेल उपाधीक्षक दिनेश कुमार ठाकुर कैदियों को उनके अधिकारो से अवगत करवाया गया। उन्होंने कहा कि कैदी इंसान है और इंसान होने के नाते उनके भी अधिकार हैं। इस दौरान उन्होंने कैदियों के लिए चलाई जा रही विभिन्न रोजगारपरक योजनाओं की भी जानकारी दी।

कार्यक्रम के दौरान कोविड19 के मद्देनजर सामाजिक दूरी का भी पालन किया गया। मौके पर लिपिक शुभाष कुमार, मिश्रक मधुकांत सिंह,परिधायक अनिल कुमार आदि मौजूद थे।


Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें