मधेपुरा : कोहरे से ढ़कने लगा शहर, सफर में गरम कपड़े के साथ निकलने लगे हैं लोग

Spread the news

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

मधेपुरा (बिहार) : छठ पर्व के बाद मौसम के मिजाज में गिरावट के साथ ही स्थानीय बाजार में गरमाहट महसूस की जाने लगी है. फुटपाथ से लेकर शोरूम तक में जैकेट, स्वेटर, मफलर, टोपी, दस्ताना, इनर वीयर की मांग में बढ़ोतरी हुई है. कई दुकानों में लोगों के पसंदीदा रेंज कम पड़ने लगे है. दुकानदारों द्वारा अभी तक पूरी तरह ठंड का कपड़ा सजाया नहीं गया है, लेकिन ठंड के अनुपात में दाम में जरूर गर्म रहा है. क्रेज भी जैकेट का बरकरार है. तेज रफ्तार बाइकर्स जैकेट को महत्व दे रहे हैं. कुछ दुकानदारों ने गर्म कपड़ों की खरीदारी पर विशेष आफर भी देने की योजना बनायी है. हालांकि इसके अलावा सरकारी से लेकर निजी अस्पताल तक में मरीजों की भीड़ बढ़नी शुरू हो गयी है. जिसमें बच्चें व वृद्ध की संख्या ज्यादा है.
गीजर व हीटर की बढ़ी डिमांड : अब अचानक ठंड का असर बढ़ जाने से इलेक्ट्रानिक उपकरण जैसे रूम हीटर व गीजर आदि की डिमांड हो गयी है. अब हाल यह है कि दुकानदार दीपावली के बाद से ही इन खास आइटम को पूरी करने में लगे हुए हैं. दुकानदार बताते हैं कि अबकी बार अधिक सामनों की बिक्री नहीं हुई है. गत वर्षों की भांति इस वर्ष त्योहारों पर भी खरीदारी नहीं हुई है. नहीं तो दुकानों में सामान धनतेरस में खत्म हो जाता था. किसी प्रकार नये माल के आने तक लोगों की मांग पूरी कर रहे हैं. जिनके पास सामान बचे हैं, उनके दिन बहुर गये. रूम हीटर और गीजर की बिक्री अचानक बढ़ गयी है.
ठंड के साथ बढ़ी अंडों की बिक्री : सर्दी में अंडा खाना सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है. ठंड शुरू होते ही अंडा खाने के शौकीन की भीड़ चौक चौराहों पर स्थित ठेलों में लगने लगती है. जैसे-जैसे सर्दी का अहसास बढ़ रहा है, वैसे-वैसे शहर में अंडे की बिक्री भी बढ़ रही हे. शाम ढलने से पहले ही शहर के प्रमुख चौक-चौराहों व सड़कों के किनारे अंडे की दुकानें सजने लगी है.
बीमारी से सावधान रहे लोग : सर्दी के मौसम में जहां कई बीमारियां सिर उठाने लगती हैं, वहीं कुछ बीमारी पीड़ित लोगों में इनका खतरा काफी बढ़ जाता है. ऐसी बीमारियों में दिल का दौरा पड़ने की आशंका अधिक होना, जोड़ों में दर्द होना, साइनोसाइटिस और रक्तचाप की समस्या प्रमुख है. डॉक्टर बताते है कि हमारी बिगड़ती जीवनशैली, खानपान और ऐसे कई ज्ञात और अज्ञात कारणों से भारत में हर पांच में से एक व्यक्ति उच्च रक्तचाप कि समस्या से पीडित है. उन्होनें बताया कि हमारे शरीर में हृदय द्वारा पंप किया हुआ रक्त, धमनियों के माध्यम से शरीर के विभिन्न अंगों तक पहुंचता है, ताकि वह सुचारु रूप से काम कर सके.
ठंड में इन बातों का रखे ख्याल : सदर अस्पताल के चिकित्सक डा यश शर्मा बताते हैं कि उच्च रक्तचाप के मरीजों को कुछ बातों का विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए. भोजन में नमक का इस्तेमाल कम-से-कम करें. जहां तक संभव हो तली-भुनी चीजों, डब्बाबंद खाद्य पदार्थों, अल्कोहल, सिगरेट इत्यादि से दूर रहें. अपना वजन संतुलित रखने की कोशिश करें. नियमित रूप से 20 मिनट का शारीरिक व्यायाम करें. अगर बाहर ज्यादा ठंड हो तो सुबह के बजाय शाम में सैर करने के लिए जाएं.


Spread the news
advertise

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें