उदाकिशुनगंज में अपराधी मस्त-पुलिस पस्त, जनता त्रस्त

Spread the news

कौनैन बशीर
वरीय उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : वारदात के बाद आमतौर पर अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए 24 और 48 घंटे का वक्त अहम माना जाता है। अबतक 72 घंटे बाद भी लूट की घटना में संलिप्त लोगों की गिरफ्तारी नहीं होने से इलाकेभर के लोगों के बीच दबी जुबान से पुलिसिया वजूद खत्म होने की चर्चा एकबार फिर से लोगों में होने लगी है।

मालूम हो कि गत बुधवार की संध्या करीब छह बजे उदाकिशुनगंज थाना अन्तर्गत बुधामा ओपी क्षेत्र के सुखासनी नहर पुल के पूरब बांसबाड़ी से सटे माली-बुधामा-आलमनगर सम्पर्क पथ पर अपराधियों ने हथियार का भय दिखाकर दो फायनेंशकर्मी से 2.71 लाख रुपये नगदी समेत हीरो ग्लैमर मोटरसाइकिल (बीआर 39डब्ल्यू 5612) लूटकर फरार हो गया था। लूट कांड में शामिल लुटेरों का पता लगाने में पुलिस 72 घंटे के बाद भी विफल है। सरेआम हुई लूट के बाद लोगों में भय का माहौल कायम हो गया है।

सूत्रों की माने तो इस लूट कांड में स्थानीय कुछ युवकों का हाथ होने की भी चर्चा है। जिस तरह सरेआम इस घटना को अंजाम दिया गया है, चर्चा है कि लुटेरे स्थानीय होने के कारण इस क्षेत्र के चप्पे चप्पे से वाकिफ था। इस वजह से वारदात के बाद आराम से अपराधी निकल गया। आशंका यह भी जताई जा रही है कि स्थानीय कुछ युवा जुआ, शराब के आदि है। इसी युवकों के बीच से कुछ ने इस घटना को अंजाम दिया है। दुर दराज का कोई भी शातिर गांव में आकर इस घटना को अंजाम देने से पहले सौ बार विचार करेगा। आम दिनों की अपेक्षा वर्तमान समय में बाजार, चौंक चौराहे पर लोगों की संख्या कम रही है।

वहीं इस मामले में पुलिस का कहना है कि मामले की तफतीश जारी है, जल्द ही लुटेरों को पकड़ लिया जाएगा।


Spread the news
advertise