ख़ुदी को कर बुलंद इतना कि हर तक़दीर से पहले,ख़ुदा बंदे से ख़ुद पूछे बता तेरी रज़ा क्या है

728x90
Spread the news

शशिकांत झा
वरीय उप संपादक

आंधीयों से ऑंख मिलाओ, तूफानों पर वार करो

मल्लाहों का चक्कर छोड़ो, तैर कर दरिया पार करो

    और ऐसे हीं रास्तों के मुसाफ़िर, बिहार के किशनगंज जिले के एस पी कुमार आशीष   को अनुसंधान उत्कृष्टता हेतु गृहमंत्री पदक के लिए चयन किया गया है। केंद्रीय गृह मंत्रालय, भारत सरकार ने बिहार पुलिस के चार अधिकारियों को चुना है। देश भर के विभिन्न राज्य पुलिस एवं केंद्रीय अनुसंधान संगठनों के 21 महिला अधिकारियों सहित 121 पदाधिकारियों को यह पदक दिया जाऐगा। इस सूची में बिहार से यह गौरव प्राप्त करने वाले किशनगंज एसपी कुमार आशीष एक मात्र आईपीएस (IPS) अधिकारी हैं।

  बताते चलें कि इनके अतिरिक्त निगरानी अन्वेषण ब्यूरो के इन्सपेक्टर विनोद कुमार पाण्डेय व संजीव कुमार तथा बेगूसराय जिले में पदस्थापित एएसआई विवेक भारती को गृह मंत्री अमित शाह, यह पदक प्रदान करेंगे। हलांकि अभी पदक पुरस्कार की अधिकृत घोषणा नहीं की गई है, पर इसकी खबर लगते हीं किशनगंज एसपी को बधाईयां मिलने का तांता लग चुका है।

गौरतलब हो कि एस पी कुमार आशीष इस जिले में पद पर आते हीं अपने पहले अपराध गोष्ठी से एक नई  परम्परा की शुरुआत की । जिसमें प्रतिमाह पांच अनुसंधान कार्य को निपटाने वाले पदाधिकारियों को पुरस्कृत करने की घोषणा की और पुरष्कृत भी किया। वैज्ञानिक अनुसंधान की दिशा में स्वयं पहल कर इसे गति देने में इनका योगदान सर्वोपरि माना जाता है। आज यही कारण होगा, जब अनुसंधान उत्कृष्टता के लिए इन्हें बिहार के पहले आईपीएस होने का गौरव मिलेगा ।


Spread the news