मधेपुरा में सिर्फ पांच दिनों में 106 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव, कुल संख्या 461, जिले भर में अबतक कुल जांच मात्र 8563  

Spread the news

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : जिले में लगातार कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। यह संख्या गिने-चुने आंकड़े में नहीं बढ़ रही है, बल्कि कोरोना संक्रमण विस्फोट के रूप में बढ़ रही है। रोजाना इस तरह से कोरोना पॉजिटिव मरीजों का मिलना जिले के लिये अच्छा संकेत नहीं है। साथ ही यह संख्या जिले के लोगों की लापरवाही को भी दर्शा रहा है। इतनी संख्या में बढ़ोतरी होने के बाद भी लोगों का जागरूक ना होना, उनके साथ-साथ उनके आस-पड़ोस के लोगों को भी खतरे में डाल सकता है।

सिर्फ पांच दिनों में सौ से अधिक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव : जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीज के आंकड़ों पर नजर डालें तो 21 मार्च से लेकर अब तक यानी 23 जुलाई तक 461 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। जिसमें 21 मार्च से लेकर 18 जुलाई तक यह आंकड़ा 355 पर था। वहीं सिर्फ बीते पांच दिनों का आंकड़ा देखा जाए तो सौ के पार हो चुका है। यानी बीते रविवार से गुरुवार तक 106 नये कोरोना पॉजिटिव के मामले सामने आये हैं, जिसमें रविवार को 10 लोग कोरोना संक्रमित पाये गये थे। सोमवार को 19 लोग, मंगलवार को 17 लोग, बुधवार को 43 लोग एवं गुरुवार को 17 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। जिसके बाद गुरुवार तक कुल 461 लोग कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं। जिले में लगातार कोरोना संक्रमित व्यक्ति की संख्या बढ़ती जा रही है। समय रहते कोरोना महामारी को बेहद ही गंभीरता से नहीं लिया गया तो जिले में यह महामारी भयानक रूप ले सकती है।

अब तक आठ हजार पांच सौ 63 लोगों का हुआ कोरोना जांच : सदर अस्पताल प्रशासन, जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिलक कॉलेज एवं अस्पताल प्रशासन द्वारा लगातार लोगों के सैंपल लिये जा रहे है एवं जांच किये जा रहे है। 21 मार्च से 23 जुलाई तक सदर अस्पताल द्वारा लगभग सात हजार लोगों की स्क्रीनिंग की गयी। वहीं आठ हजार पांच सौ 63 लोगों का सैंपल जांच के लिये भेजा गया, इसमें अब तक चार सौ 61 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। वहीं इनमें से 306 लोग स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं। साथ ही 155 लोग अभी इलाजरत है। जिसमें 70 लोग जननायक करपुरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में इलाज रखें तथा अन्य लोग राज्य के अन्य अस्पतालों के साथ-साथ कोरेंटीन में भी हैं। बुधवार को भी सदर अस्पताल के द्वारा 99 लोगों का सैंपल जांच के लिये भेजा गया था, जिसमें से 17 लोगों का रिपोर्ट पॉजिटिव आया। वहीं गुरूवार को लगभग 40 लोगों की थर्मल स्कैनिंग की गयी है, साथ ही अभी भी लगभग सैकड़ों की संख्या में लोगों का रिपोर्ट नहीं आया है, सारा रिपोर्ट पेंडिंग पड़ा हुआ है।

डीएम- एसपी ने किया सदर अस्पताल का निरीक्षण, दिये निर्देश : रोजाना कोरोना पॉजिटिव लोगों का मिलना एवं संदिग्ध के जांच को लेकर सदर अस्पताल एवं जन नायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल पर दबाव बढ़ चुका है। हालांकि जिला प्रशासन से लेकर सदर अस्पताल प्रशासन एवं मेडिकल कॉलेज प्रशासन लोगों के सैंपल के जांच के लिये एवं उनके इलाज के लिये तत्पर है। कोरोना संक्रमण में हो रही वृद्धि को लेकर जिला पदाधिकारी नवदीप शुक्ला द्वारा लगातार स्वास्थ विभाग के अधिकारियों एवं संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक की जा रही है। साथ ही सदर अस्पताल से लेकर मेडिकल कॉलेज के संबंधित विभागों का भी निरीक्षण किया जा रहा है।

गुरुवार को भी जिला पदाधिकारी नवदीप शुक्ला एवं पुलिस अधीक्षक संजय कुमार सदर अस्पताल पहुंचकर प्रभारी सिविल सर्जन डा आरपी रमण से स्थिति की समीक्षा की एवं कई आवश्यक निर्देश दिये। मधेपुरा के आसपास के जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या को देखते हुये जननायक करपुरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में सीटों की संख्या बढ़ा दी गई है। अब मेडिकल कॉलेज में सीटों की संख्या बढ़ाकर 353 कर दी गई है। मालूम हो कि मधेपुरा के आसपास के जिले पूर्णिया, कटिहार, सहरसा, सुपौल, अररिया एवं किशनगंज जिले के भी कोरोना से संक्रमित गंभीर मरीजों को जननायक मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में रेफर किया जा रहा है।

नियमों की धज्जी उड़ा रहे हैं दुकानदार, बिना अनुमति के खोल रहे हैं दुकान : जिला प्रशासन द्वारा सभी आवश्यक सामग्री वाले दुकानदारों को भी दुकान खोलने के लिये समय तय कर दिया गया है। इसके बावजूद कई दुकानदार लॉकडाउन एवं जिला प्रशासन द्वारा जारी किये गये निर्देश का खुलेआम धज्जि उड़ा रहे हैं एवं तय समय सीमा के बाहर भी दुकान खुले रखते हैं, साथ ही कई दुकानदार दुकान को आधा खोलकर पूरे दिन दुकान चलाते रहते हैं, वहीं कई दुकानदार पूरे दिन दुकान के आसपास भटकते रहते हैं एवं ग्राहकों के आने पर दुकान खोलकर सामान देते हैं। पुलिस प्रशासन के सुस्त रवैया एवं दुकानदारों में पुलिस का डर ना होने के कारण बाजारों में बिना अनुमति के दुकानें खुल रही है। बाजारों में सड़क किनारे पुलिस अधिकारियों के सामने कुछ दुकानदार लॉकडाउन एवं जिला प्रशासन के द्वारा जारी किये गये निर्देशों को ताक पर रखकर दुकान चला रहे हैं एवं नियमों की धज्जी उड़ा रहे। सड़क किनारे ठेला लगे रहने एवं दुकान खुले रहने के कारण लोग नियमों का उल्लंघन करते हुये दुकानों पर भीड़ लगाकर सामानों की खरीदारी करते हैं, कई लोग बिना मास्क पहने सड़कों पर घूमते नजर आ रहे हैं, हालांकि पुलिस प्रशासन की नजर पड़ने पर उन पर कार्रवाई की जा रही है। गुरुवार को भी पुलिस प्रशासन द्वारा शहर में गस्ती कर सड़कों पर बिना मास्क के घूम रहे लोगों से एवं बिना मास्क पहने दुकान चला रहे दुकानदारों से चालान वसूला गया।

सदर एसडीएम, वृंदा लाल ने कहा कि किसी भी स्थिति में नियमों का उल्लंघन बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। बिना अनुमति के दुकान खोलने पर दुकानदारों पर कड़ी कार्रवाई की जायेगी, साथ ही सभी संबंधित थानों को भी निर्देश दिया गया है कि लॉकडाउन  के नियमों की अनदेखी ना की जाय, तथा संबंधित लोगों पर उचित कार्रवाई की जाय।


Spread the news
advertise