मधेपुरा : कंचननगर के बाशिंदें आज भी है सड़क से वंचित, ग्रामीणों ने लगायी गुहार

728x90
Spread the news

मामला – प्रखंड के दुर्गापुर पंचायत अन्तर्गत वार्ड 6 कंचन नगर का

वसीम अख्तर
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : सरकार गांवों के विकास को लेकर योजनाएं तो चला रही है, परंतु आवश्यकता को प्राथमिकता नहीं दिये जाने के कारण जरूरतमंदों को योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है।  योजनाओं का सही जगह क्रियान्वयन नहीं होने के कारण कई गांव के लोग आज भी बुनियादी समस्याओं से जूझ रहे हैं।

जिला के पुरैनी प्रखंड के दुर्गापुर पंचायत अन्तर्गत दुर्गापुर से चौसा प्रखंड के घोषई जाने वाली मुख्य सड़क से सटे पंचायत के वार्ड संख्या छः के कंचन नगर के बाशिंदों को आज भी गांव को मुख्य सड़क से जोड़ने के लिए सड़क नसीब नही है। ग्रामीणों ने बताया कि गांव को मुख्य सड़क तक जोड़ने के लिए पगडंडी ही एक मात्र सहारा है सड़क नहीं रहने के कारण लोगों को आवागमन में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। खासकर ग्रामीणों को बरसात के समय में आने-जाने में काफी परेशानी होती है। बरसात के समय गर्भवती महिलाओं व मरीजों को अस्पताल ले जाने में भी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

बताते हैं कि भले सरकार पांच सौ आबादी वाले टोले मुहल्ले को आवाजाही की सुविधा के लिए सड़क का निर्माण करवा मुख्य सड़क से जोड़ने की बात करती हो। लेकिन अच्छी खासी आबादी वाले इस टोले में आजतक सड़क नही बनने से ग्रामीण को परेशानी से गुजरना पडता है । खास कर बरसात के समय इन वार्डों के बाशिंदों के सामने भारी आवाजाही की समस्या खड़ी हो जाती है। प्रदर्शनकारियों ने प्रखंड विकास पदाधिकारी से समस्या के समाधान की मांग की है।

बारिश में पैदल चलना हो जाता दूभर: ग्रामीणों ने बताया कि उनके द्वारा पिछले कई वर्षो से अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों से इस सड़क का निर्माण करने की मांग की जा रही है। लेकिन आज तक सड़क नहीं बन सकी है। बारिश के दिनों मेें ग्रामीणों की समस्या और भी बड़ जाती है। सड़क पर कीचड़ मचने से वाहन चलाना तो दूर पैदल निकलना मुश्किल हो जाता है और बरसात में पानी भर जाता है।

क्या कहतें हैं प्रखंड विकास पदाधिकारी : इस बाबत प्रखंड विकास पदाधिकारी विरेन्द्र कुमार ने बताया की जल्द ही उक्त टोले पर सड़क निर्माण कार्य प्रारंभ कर दी जाएगी। तत्कालीन मिट्टी भराई और ईंट शोलिंग कार्य करने हेतु पंचायत को निर्देश दे दिया गया है।


Spread the news