नालंदा जिला में कोरोना ने पकड़ी रफ्तार,संख्या 800 के पार, डॉक्टर, प्रशासन, स्वास्थ्य कर्मी, लैब  टेक्नीशियन और पत्रकार सभी शामिल

728x90
Spread the news

मुर्शीद आलम
नालंदा ब्यूरो
बिहार

नालंदा/बिहार : जिला में कोरोना संक्रमित व्यक्तियों के संख्या में लगातार वृद्धि होती  जा रही  है और धीरे-धीरे कोरोना संक्रमण पूरी तरह से जन समुदाय के बीच फैलता जा रहा है। जिले में कोरोना की संख्या 800 से भी पार कर चुकी है। कोरोना संक्रमण के गिरफ्त में जिले के डॉक्टर, प्रशासन, स्वास्थ्य कर्मी, लैब टेक्नीशियन और पत्रकार भी शामिल है।

जिले में कोरोना संक्रमण व्यक्तियों की संख्या 800 के पार कर चुकी है, इस बात की पुष्टि जिला सिविल सर्जन डॉ राम सिंह ने की। बेन प्रखंड के चिकित्सा अधिकारी, मेडिकल अफसर सहित सात व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इस तरह जिले में कोरोना संक्रमण तेजी से अपना पैर पसार चुका है। बिहारशरीफ के कमरुद्दीन गंज मोहल्ले में 5 दर्जन से भी अधिक कोरोना संक्रमित मरीज पाए जा चुके हैं, वार्ड पार्षद नीरज कुमार के अथक प्रयास के बाद मुहल्ले को सैनिटाईज किया गया है। सिर्फ खानापूर्ति के लिए।

उन्होंने बताया की मोहल्ला में पाए गए कोरोना संक्रमित मरीजों को घरों में ही छोड़ दिया गया है और सभी लोग भगवान भरोसे जी रहे हैं।  नगर निगम पर आरोप लगाते हुए कहा कि 2-2 फॉवॉशिंग मशीन रहने के बावजूद भी दवा नहीं रहने की दुहाई देकर मोहल्ले को फॉवॉशिंग नहीं की गई है। उन्होंने कहा जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम पूरी तरह लापरवाह है और कोरोना संक्रमित मरीजों को भगवान भरोसे छोड़ दिया है।

लहरी थाना में भी एक पुलिस पदाधिकारी बुधवार को कोरोना संक्रमित पाए गए थे, लेकिन थाना के पुलिस पदाधिकारी और पुलिस कर्मियों को बृहस्पति देर शाम तक कुछ लोगों का ही सैंपल लिया गया था और बृहस्पतिवार तक थाना को सैनिटाईज नहीं किया गया था, जिसके कारण पुलिसकर्मियों के बीच भय व्याप्त है। जिला कांग्रेस अध्यक्ष व स्नातक अधिकार मंच के संयोजक दिलीप कुमार ने भी जिला की जनता से अनुरोध किया है कि लॉकडाउन को बेहद गंभीरता पूर्वक लें, अपने व्यावसायिक प्रतिष्ठान ना खोलें, किसी भी तरह की गतिविधियों से हर हाल में परहेज करें, अपने घरों में ही रहे और कोरोना महामारी के चेन को तोड़ने हेतु सभी आवश्यक निर्देशों का पालन करें।

जिले में बृहस्पतिवार को 93 कोरोना के संक्रमित मरीज पाए गए हैं, जिसमें सदर अस्पताल के डॉक्टर और रजिस्ट्री कार्यालय के कर्मी सहित बिहारशरीफ शहरी क्षेत्र में 51 संक्रमित मरीज पाए गए हैं। इस बीच बिहार शरीफ शहर में अफवाहों का बाजार भी गर्म है, जिससे शहर की जनता काफी दहशत और सहमे हुए हैं, इसके बावजूद भी जनता के द्वारा सरकारी गाइडलाइन का पालन नहीं किया जा रहा है। जिले की स्थिति इसी तरह रही तो आने वाले समय में जिले में करोना संक्रमितों संख्या में और तेजी से वृद्धि होने की प्रबल संभावना व्यक्त की जा रही है। जिला प्रशासन के बार-बार अनुरोध के बावजूद भी लोग बेखौफ घरों से बाहर निकल रहे हैं।

कोरोना से डरे नहीं लड़े। सरकारी दिशा निर्देश की पूरी तरह पालन करें। सतर्क रहें, सुरक्षित रहें और घरों पर ही रहे, यही है कोरोना से बचाव के उपाय।


Spread the news