मधेपुरा : जल जीवन हरियाली में उजड़ा आशियाना, तो विद्यालय भवन को अतिक्रमण कर बनाया नया ठिकाना

Spread the news

विद्यालय भवन को अतिक्रमण कर छह माह से रह रहा परीवार, प्रखंड प्रशासन और शिक्षा विभाग नही ले रहा सुध

मामलापुरैनी प्रखंड के उमवि बघरा का, विद्यालय के जमीन को अतिक्रमण कर चुके है ग्रामीण

वसीम अख्तर
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : जिला के पुरैनी प्रखंड के वंशगोपाल पंचायत अन्तर्गत बघरा गाँव में विद्यालय निकट स्थित पोखर पर बसे तीन परिवार का आशियाना जब जल जीवन हरियाली योजना के तहत पोखर का जीर्णोद्धार हेतु अतिक्रमण मुक्त कराया गया तो पोखर पर बसे तीन परिवार का आशियाना उजड़ गया तो पोखर पर बसे मनोज ठाकुर और विनोद ठाकुर एवं उमेश ठाकुर की विधवा अपने परिवार के सदस्यों के साथ विद्यालय के पुराने भवन को अतिक्रमण कर रहने लगे और अबतक विद्यालय को अतिक्रमित कर रह रहे है, जिसको लेकर प्रशासन और शिक्षा विभाग मौन है।

प्रखंड के वंशगोपाल पंचायत अन्तर्गत बघरा गांव स्थित उत्क्रमित मध्य विद्यालय बघरा के पुराने भवन व परिसर में ग्रामीणों का कब्जा है। ग्रामीणों की मनमानी इस कदर व्याप्त है कि विद्यालय परिसर में ही अवैध रूप से घर बसा लिया गया है। हालांकि विद्यालय के नए भवन में वर्ग का संचालन किया जा रहा है। जबकि पुराने भवन में अवैध अतिक्रमण कर शिक्षा विभाग के कायदे कानून की धज्जियां उड़ाई जा रही है।

बताया जाता है कि बघरा गांव स्थित इस विद्यालय के पुराने भवन में पहले वर्ग का संचालन किया जाता था। नए भवन निर्माण होने के बाद वर्ग संचालन का कार्य नए भवन में शुरू हो गया। इस कारण विद्यालय भवन परिसर खाली हो गया है। इसका नाजायज फायदा विद्यालय के आस पास के लोगों ने उठाया। लोगों ने मौके का फायदा उठा कर विद्यालय भवन को घरेलू आवश्यकता की चीजों के लिए उपयोग करना शुरू कर दिया है। वहीं विद्यालय की जमीन को कई लोगों ने अतिक्रमण कर घर भी बना लिया है। मगर इसको लेकर प्रखंड प्रशासन व शिक्षा विभाग कोई पहल नहीं कर रही है। जिससे ये अव्यवस्था बढ़ती ही जा रही है। वहीं विद्यालय परिसर में अतिक्रमण को लेकर पंचायत प्रतिनिधि व पदाधिकारी से भी शिकायत कर चुके हैं। लेकिन समस्या समाधान के लिए कोई पहल नहीं किया गया है।

वहीं विद्यालय भवन को अतिक्रमण कर रह रहे परिवार का कहना है की हमलोग भूमिहीन है जमीन सरकार द्वारा उपलब्ध नही कराया गया है जिस कारण हमलोग यहां रहने को विवश है।

क्या कहते है बीईओ :  इस बाबत बीईओ अशोक कुमार झा ने बताया की मामले की जानकारी नही थी विद्यालय के प्रधानाध्यापक से मामले को लेकर पुछा जा रहा है और रह रहे परिवार को भवन खाली करने के लिए कहा गया है। वहीं अंचलाधिकारी ने कहा कि मामले को लेकर शीघ्र कारवाई की जाएगी।


Spread the news
advertise