सुपौल : राजद कार्यकर्ताओं ने थाली पीटकर भाजपा की वर्चुअल रैली का किया विरोध

728x90
Spread the news

छातापुर से रियाज खान की रिपोर्ट : 

छातापुर/सुपौल/बिहार : भाजपा की वर्चुअल रैली के विरुद्ध रविवार को छातापुर प्रखंड के विभिन्न पंचायतों में राजद कार्यकर्ताओं ने सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए थाली, कटोरा और ताली बजाकर विरोध प्रदर्शित किया।

पूर्व उप मुख्यमंत्री व प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव के आहवान पर रविवार को बेरोजगार दिवस पर राजद के द्वारा थाली बजाकर बिहार सरकार का विरोध जताया गया, यूवा राजद के राष्ट्रीय महासचिव संजीव मिश्रा के नेतृत्व में चुन्नी पंचायत में दर्जनों कार्यकर्ताओं ने सरकार का विरोध जताया, श्री मिश्रा ने बताया कि लाॅकडाउन व महामारी के कारण देश में उपजे हालात के बीच लाखों प्रवासी अपने राज्य लौटकर आये हैं। प्रवासियों को लाने से लेकर कोरेंटाईन करने तक में सरकार का सौतेला रवैये से नीतीश सरकार का गरीब व मजदूर विरोधी चेहरा उजागर हो गया है। प्रवासियों के साथ समक्ष रोजी रोजगार का नहीं होना सबसे बङी समस्या उभरकर सामने आ रही है। राज्य सरकार के गलत आर्थिक नीतियों के कारण यहां कल कारखाना व उद्योग धंधा भी नहीं है, यैसे में बेरोजगारों एवं प्रवासियों को बिहार रोजगार मिल पाने की संभावना नहीं के बराबर है।

कहा कि सरकार सभी प्रवासियों को तत्काल आर्थिक सहयोग प्रदान करते हुए रोजगार उपलब्ध कराने को लेकर अविलंब रणनीति तैयार करे। अन्यथा प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव के नेतृत्व में गरीब, मजदूर व प्रवासियों के लिए आर पार की लङाई लङेगी।

मौके पर रंजीत कुमार रमण उर्फ बबलु कुसियैत, राजू खान, दानालाल यादव,सद्दाम हुसैन मुख्य रूप से मौजूद थे।

विज्ञापन

वहीं राजद के जिला अध्यक्ष सह पूर्व सांसद महेन्द्र नारायण सरदार के नेतृत्व में दर्जनों कार्यकर्ताओं ने चरणे चौक पर ताली और थाली बजाकर विरोध प्रदर्शन किया।

जिलाध्यक्ष श्री सरदार ने कहा कि चुनावी लाभ के लिए सरकारी राशि का दुरुपयोग करते हुए भाजपा ऐसे वक्त में डिजिटल रैली कर रही है जब देश में प्रतिदिन 10 हजार से अधिक लोग कोरोना पॉजिटिव हो रहे हैं।

असफल लॉकडाउन की वजह से कोरोना नियंत्रित तो हुआ नहीं, उल्टे देश की अर्थव्यवस्था चौपट हो गई। देश के मजदूरों, खासकर बिहार के प्रवासियों के सामने गंभीर रोजगार संकट खड़े हो गए हैं, हजारों की तादाद में मजदूर मारे गए और यह सब सरकार की गलत नीतियों की वजह से हुआ है।

कोरोना वायरस जैसे महामारी एवं लॉकडॉन के संकट में पूरे देश के मजदूर परेशान और बेरोजगारी एवं भारी आर्थिक संकट में है। उनकी हर स्तर पर भी मदद करने की जरूरत है। उन्हें रोजी रोटी और रोजगार की जरूरत है और भाजपा पार्टी इस संकट की घड़ी को किनारे कर राजनीति कर रही है। मौके पर चंदन सरदार, संतोष सरदार, कुम्भनारायन सरदार, मनोज साह, शुभाष सरदार, जयप्रकाश भगत, अनमोल सरदार, सुबोध यादव, नीतीश यादव, प्रदीप सरदार, पिंटू भगत, रामचन्द्र भगत, विनोद यादव, मुरली सरदार, उमेश सिंह,इस्ताक आलम, पप्पू सरदार, जगदेव साह आदि शामिल थे ।

विज्ञापन

इसके अलावा राजेश्वरी पूर्वी पंचायत वार्ड चार स्थित भावनिपट्टी में पूर्व मुखिया रमेश यादव अपने आवास पर कार्यकर्ताओं के साथ थाली ताली बजाकर विरोध प्रदर्शन किया । पूर्व मुखिया सह राजद नेता रमेश यादव ने कहा कि राजधानी से लेकर गांवों तक राजद कार्यकर्ता थाली ताली बजाकर विरोध किया है ।

 उन्होंने कहा कि रैली के जरिए बीजेपी-जेडीयू अपनी सरकार की नाकामियों को छुपाना चाहते हैं। इसलिए थाली-लोटा और कटोरी बजाकर आरजेडी कार्यकर्ताओं ने लोगों को आगाह किया कि यह सरकार आम लोगों की विरोधी है, बताया कि कामगारों को अपराधी बताने वाली सरकार के खिलाफ राज्य के प्रत्येक गली-मोहल्ले, टोले, पंचायत, प्रखंड स्तर पर बैनर-पोस्टर और होर्डिंग लगाकर सरकार की सोच को उजागर किया गया।  उन्होंने कहा कि बिहार सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि उनकी गलत नीतियों के चलते बिहार में प्रवासी मजदूरों को कोई सुविधा नहीं मिल रही है। क्वारंटाइन सेंटर की हालत बदतर है। जनता की कोई सुन नहीं रहा। सरकार हर मोर्चे पर विफल हो गई है।

मौके पर सरपंच नंदकिशोर यादव, देवनारायन यादव, संतोष यादव, तारणी यादव, जयप्रकाश यादव, अजय कुमार सरदार, विनोद कुमार यादव आदि मौजूद थे।


Spread the news