मधेपुरा : विश्वविद्यालय हित में साथ मिलकर काम करना जरूरी-कुलपति

728x90
Spread the news

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : हम सबों को मिलकर विश्वविद्यालय के हित में कार्य करना है। विश्वविद्यालय के हित में ही हमारा हित निहित है. यह बात बीएनएमयू कुलपति प्रो डा ज्ञानंजय द्विवेदी ने कही।वे शनिवार को विश्वविद्यालय के सभी पदाधिकारियों के बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

 इसके पूर्व सभी पदाधिकारियों ने बारी- बारी से कुलपति को पुष्पगुच्छ देकर सम्मानित किया। कुलपति ने कहा कि वे राज्यपाल सह कुलाधिपति फागू चौहान के आभारी हैं। उन्होंने मुझे कुलपति की जिम्मेदारी देकर हमारे ऊपर उपकार किया है। मैं हमेशा उनके निदेशों के अनुरूप कार्य करूंगा, हमेशा विश्वविद्यालय के हित में काम करता रहूंगा। कुलपति ने कहा कि वे सभी पदाधिकारियों, शिक्षकों, कर्मचारियों,  छात्र-छात्राओं एवं अभिभावकों के सहयोग से कार्य करेंगे, सबों की बातें सुनेंगे एवं सबों को साथ लेकर विश्वविद्यालय को आगे ले जाने का प्रयास करेंगे। कुलपति ने कहा कि टीम बहुत अच्छी है, इसमें अपार संभावनायें हैं, हमारे यहां टीम वर्क का अभाव नहीं है, हमारी टीम मजबूत है। सबों में कुछ न कुछ विशेषतायें हैं। हमें उनकी विशेषताओं का विश्वविद्यालय के हित में उपयोग करना है।

सबों को विश्वविद्यालय को केंद्र में रखकर करना है काम : कुलपति ने कहा कि मैं सभी पदाधिकारियों एवं कर्मचारियों से भली-भांति वाकिफ हूं और वे उनके बीच से ही यहां तक आये हैं। सबों को विश्वविद्यालय को केंद्र में रखकर काम करना है, सभी बीएनएमयू के सर्वांगीण विकास में योगदान दें। हमें सकारात्मक भाव से आगे बढ़ना है।

 प्रति कुलपति प्रो डा फारूक अली ने कहा कि विश्वविद्यालय में टीम वर्क का अभाव है। इस आभाव को दूर करने की जरूरत है। बैठक का संचालन करते हुए कुलसचिव डा कपिलदेव प्रसाद ने कहा कि सही पदाधिकारी एवं कर्मचारी विश्वविद्यालय के विकास में योगदान दे रहे हैं और देते रहेंगे।

 धन्यवाद ज्ञापन करते हैं कि डीएसडब्लू डा अशोक कुमार यादव ने सदन को विश्वविद्यालय की समस्याओं एवं चुनौतियों से अवगत कराया।

 इस अवसर पर वित्तीय परामर्शी सुरेशचंद्र दास, डीएसडब्लू डा अशोक कुमार यादव, सामाजिक विज्ञान संकायाध्यक्ष डा आरकेपी रमण, कुलानुशासक डा बीएन विवेका, सीसीडीसी डा इम्तियाज अंजुम, कुलसचिव डा कपिलदेव प्रसाद, वित्त पदाधिकारी सूरजदेव प्रसाद, परीक्षा नियंत्रक डा नवीन कुमार, आईक्यूएसी के निदेशक डा मोहित कुमार, नोडल पदाधिकारी डा अशोक कुमार सिंह, एनएसएस समन्वयक डा अभय कुमार, उप कुलसचिव पंजीयन डा दीनानाथ, पीआरओ डा सुधांशु शेखर, कुलपति के निजी सहायक शंभू नारायण यादव आदि उपस्थित थे।


Spread the news