मधेपुरा : युवक ने फंदा लगाकर की खुदकशी

Spread the news

कौनैन बशीर
वरीय उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : जिले के उदाकिशुनगंज प्रखंड क्षेत्र के बिहारीगंज थाना अंतर्गत जौतैली पंचायत के  वार्ड संख्या 14 संथाल टोला में मंगलवार की शाम एक युवक ने गले में फंदा डालकर खुदकुशी कर ली । युवक का नाम ब्रह्मदेव ठाकुर है। वह मेदी ठाकुर का पुत्र बताया जा रहा है। युवक ने खुदकुशी क्यों की। यह साफ नहीं हो पाया।

वैसे बताया जा रहा है कि युवक की पत्नी का कुछ साल पहले निधन हो गया था। उसे कोई संतान नहीं है। युवक ने उसके बाद दूसरी शादी नहीं की। वह अत्यंत ही गरीब थे। उसे रहने के लिए एक मात्र घर है। उसे एक बूढी मां है। वह मदमस्त तरीके से रहा करता था। गांव में छोटी सी सैलून की दुकान चलाता था। दुकान से इतने रूपये नहीं हो पाता था कि खुद और बूढी मां की परवरिश कर सके। तंगीहाल की वजह से उसे खुद का जीवन बोझ सा लग रहा था।

जानकारी के अनुसार ब्रह्मदेव ठाकुर पिता स्वर्गीय मेदी ठाकुर उम्र करीब 40 वर्ष, दो  भाई में छोटा था | पत्नी कुछ साल पहले ही गुजर गई । उसे कोई संतान नहीं था। वृद्ध माता चंडी देवी अक्सर बीमार रहा करती है। युवक  को रहने के लिए वासडीह के अलावा और कोई जमीन नहीं । अत्यंत ही गरीबी में जीवन गुजर रहा था। शायद जिंदगी एक बोझ होने से तंग आकर गले में फंदा डालकर खुदकुशी कर ली। उसकी माँ जब खाना बनाने को लेकर घर गई तो अंदर से घर बंद था । आवाज देने पर जब किसी की आवाज सुनाई नहीं पड़ने पर खिड़की के सहारे जब झांककर देखा तो अपने बेटे के गले में रस्सी से बांस के बल्ली में बंधा मृत अवस्था में लटक रहा था। शोर मचाने पर आसपास के लोगों की भीड़ जमा हो गई।

 वहीं ग्रामीणों ने मुखिया प्रतिनिधि उदय कुमार सिंह उर्फ बबलू सिंह को फोन कर बुलाया। मुखिया प्रतिनिधि  ने स्थिति को भॉंफते हुए घटना की पूरी जानकारी बिहारीगंज थाना को दी । थानाध्यक्ष  अखिलेश कुमार ने मंजौरा पुलिस कैंप प्रभारी मुरलीधर पासवान को घटना की जानकारी दी । कैंप प्रभारी ने त्वरित कार्रवाई करते हुए स्थल पर पहुंचकर ग्रामीणों के बीच घर के दरवाजे को तोड़कर कर लाश को अपने कब्जे में लेकर थाना लाया । जहां कागजी प्रक्रिया पूरी कर लाश को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल मधेपुरा भेज दिया।


Spread the news
advertise