नारी सशक्तिकरण की मिसाल है शिखा नरूला

728x90
Spread the news

अनूप ना. सिंह
स्थानीय संपादक

सुश्री शिखा नरूला, निदेशिका- नरूलास एंड कंपनी, एमबीए और एम.कॉम, प्रमाणित योग प्रशिक्षक और फिटनेस विशेषज्ञ है। सुश्री शिखा नरूला नरूलास एंड कंपनी की निदेशक हैं, उन्हें इवेंट मैनेजमेंट, रियल एस्टेट, एजुकेशन, रिक्रूटमेंट, टीचिंग, हॉस्पिटल्स, सभी आरओसी और इनकम टैक्स से संबंधित मामलों, मैनपावर सप्लाई, ब्रांडिंग और प्रमोशन जैसे विभिन्न क्षेत्रों में बहुत बड़ा अनुभव है और आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन।  वह मशरूम की खेती में भी शामिल हैं। उन्हें योग आसनों, प्राणायाम और ध्यान का गहरा ज्ञान है। वह योग का अभ्यास करने के लिए भावुक है और इसे अपने पूरे जीवन काल के लिए चुना है।  उनके समर्पण और शक्तिशाली प्रथाओं ने खुद को (शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से) बदल दिया है।

वह एक सुव्यवस्थित, प्रेरित और उत्साही व्यक्ति है और समय पर, कुशल और सटीक कार्य को बढ़ावा देती है। अनुभवी कौशल, जिम्मेदारी की उच्च भावना और गंभीर कार्यशैली के साथ, वह सर्वोत्कृष्ट उद्यमी है। उनकी ध्वनि वित्तीय और लेखा पृष्ठभूमि के साथ युग्मित कारोबारी माहौल को समझने की उसकी क्षमता ने उन्हें विभिन्न गतिविधियों में विशेषज्ञता के लिए सक्षम किया है। शिखा नरूला योगा के जरिये लोगों को फिट बनने के लिये जागरूक कर रही है।

कोरोना वायरस के खतरे को रोकने के लिए भारत में 17 मई तक लॉकडाउन किया गया है।

शिखा नरूला ने कहा की आज के भागदौड़ में जब आदमी घर में बैठ जाय लाकडाउन हो जाय तो अनेक तरह से ‌उसको मानसिक शारीरिक दिक्कत आती है। तनाव होता है।उसको दूर करने के लिए योग करना आवश्यक होता है। योग करने से फिटनेस बनी रहती है और मानसिक तनाव से बचाव होता है।

घर में रहें स्वस्थ रहें। आज का यही सूत्र है। देश में लॉकडाउन के चलते जिम और फिटनेस सेंटर, पार्क आदि बंद होने से लोग फिटनेस वर्कआउट नहीं कर पा रहे हैं। उन्होंने बताया कि घर पर रह कर भी कुछ शारीरिक व्यायाम और योगा एक्टिविटी कर भी लोग अपने और अपने परिवार को फिट रख सकते हैं। उन्होंने कहा कि योग एक ऐसी तकनीक है जिसके जरिए खुद को निरोग बनाए रखा जा सकता है। योग आसन, प्राणायाम, सूर्य नमस्कार के कई फायदे हैं। इनके जरिए शरीर को स्वस्थ और सुंदर बनाये रख सकते हैं।

शिखा नरूला ने बताया कि वह खुद योगा के जरिये अपने दिन की शुरुआत करती हैं। उन्होंने कहा योग के माध्यम से शरीर, मन और मस्तिष्क को पूर्ण रूप से स्वस्थ किया जा सकता है। तीनों के स्वस्थ रहने से आप स्‍वयं को स्वस्थ महसूस करते हैं। योग के जरिए न सिर्फ बीमारियों का निदान किया जाता है, बल्कि इसे अपनाकर कई शारीरिक और मानसिक तकलीफों को भी दूर किया जा सकता है। योग प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाकर जीवन में नव-ऊर्जा का संचार करता है। योगा शरीर को शक्तिशाली एवं लचीला बनाए रखता है साथ ही तनाव से भी छुटकारा दिलाता है जो रोजमर्रा की जि़न्दगी के लिए आवश्यक है। योग आसन और मुद्राएं तन और मन दोनों को क्रियाशील बनाए रखती हैं।

उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के दौरान जब हम घर से बाहर जाकर वर्कआउट नहीं कर सकते हैं तो घर में योगा करना श्रेष्ठ विकल्प है। ऐसा करने से स्वास्थ्य को बेहतर किया जा सकता है।


Spread the news