मधेपुरा : 15 अप्रैल से खाद्यान्न का वितरण शुरू करेंगे पीडीएस दुकानदार

728x90
Spread the news

वितरण से पहले 30 कार्डधारियों को दिया जाएगा कूपन

कार्डधारियों को मूफ्त में मिलने वाली दाल के आवंटन में फंसा विभागीय पेंच

मिथिलेश कुमार
संवाददाता
मुरलीगंज, मधेपुरा

मुरलीगंज/मधेपुरा/बिहार : कोरोना वायरस को लेकर जारी लाॅक डाउन के अवधि में गरीब लोगों को पीडीएस द्वारा मुफ्त अनाज जल्द ही मिलने वाली है। जिसको लेकर सोमवार से पीडीएस दुकानदार को अनाज का उठाव शुरू कर दिया गया है। बता दें कि लाॅक डाउन लगने के बाद प्रधानमंत्री द्वारा घोषित गरीबों को तीन माह का राशन मूफ्त देने की घोषणा के 16 दिन बाद अनाज का उठाव शुरू किया गया  और संभवतः 15 अप्रैल से कार्डधारियों के बीच राशन वितरण करने की बात कही गई है। लॉकडाउन के अवधि में खासकर दैनिक मजदूरी कर जीवन यापन करने वाले लोगों को काफी दिक्कत्तो का सामना करना पड़ा हैं। बताया गया कि प्रति यूनिट के हिसाब से पांच-पांच किलो राशन तीन माह तक दिया जाएगा। वहीं कार्डधारीयों को पहले की तरह नियमित राशन का वितरण भी जारी रहेगा। मालूम हो कि मुरलीगंज ब्लाक सहित नगर पंचायत में अप्रैल माह में राशन वितरण को लेकर करीब 10 हजार क्विंटल चावल उपलब्ध करा दिया गया है।

इसके वितरण को लेकर प्रखंड आपूर्ति कार्यालय से दिशा निर्देश जारी कर दिया गया है। प्रखंड आपूर्ति कार्यालय के मुताबिक अनाज का वितरण सुबह सात बजे से शाम के पांच बजे तक करने का निर्देश पीडीएस दुकानदारों को दिया गया है। अनाज वितरण के दौरान लाभुकों की भीड़ न हो इसको लेकर यह निर्देश दिया गया है। साथ ही बताया गया कि सभी पीडीएस दुकानदार वितरण से पूर्व 30 कार्डधारियों को कूपन निर्गत करेगा। प्रतिदिन 30 लाभुक को ही अनाज देंगे। वहीं पीडीएस विक्रेताओं को अनाज वितरण के दौरान लाभुकों के हाथ को साफ करने के लिए सैनिटाइजर या साबुन व पानी की व्यवस्था उपलब्ध कराने को कहा गया है। अप्रैल से लेकर जून माह तक में दिया जाएगा।

बीएसएफसी गोदाम को चावल की खेप उपलब्ध हो गयी हैं। लेकिन कार्डधारियो को मूफ्त में मिलने वाली दाल का आवंटन नहीं हुआ है।

एमओ रंजन कुमार ने बताया कि पीडीएस विक्रेताओं को अनाज का उठाव करने का निर्देश दिया गया है। अप्रैल माह के नियमित वितरण के साथ ही लाभुकों को प्रति यूनिट के हिसाब से पांच पांच किलो अनाज मुफ्त में भी दिया जाएगा। इसको लेकर दिशा निर्देश जारी कर दिया गया है। साथ ही उन्होंने लाभुकों को सोशल डिस्टेंसिंग (आपसी दूरी) बनाकर अनाज उठाव करने का अपील किया हैं।


Spread the news