मधेपुरा : कोरोना महामारी रोकथाम के कार्यों में बाधा उत्पन्न करने पर मामला दर्ज

728x90
Spread the news

मिथिलेश कुमार
संवाददाता
मुरलीगंज, मधेपुरा

मुरलीगंज/मधेपुरा/बिहार :  मुरलीगंज प्रखंड के अंतर्गत पड़वा नवटोल पंचायत के वार्ड 5 में शनिवार को एक व्यक्ति के चिकित्सकीय जांच कराने पहुंचे प्रशासन और स्वास्थ्य कर्मी टीम के साथ बदसलूकी करने का मामला सामने आया है। जिसको लेकर बीडीओ ललन कुमार चौधरी के आवेदन पर कोरोना महामारी रोकथाम के कार्यों में बाधा उत्पन्न करने को लेकर चार नामजद के साथ अज्ञात पचास लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की गई है।

बताया गया कि शनिवार को बीडीओ ललन कुमार चौधरी, थानाध्यक्ष किशोर कुमार ने मेडिकल टीम के साथ पड़वा वार्ड 5 पहुंचे थे। जहाँ पूर्व में बाहर से आए मो युनूस, पुत्र मो खालिद को कम्यूनिटी क्वारेंटाइन सेंटर जाने के लिए कहा गया है। इतने में मो युनूस के घर के पास दर्जनों लोगों की भीड़ जमा हो गया है। उक्त लोगों ने क्वारेंटाइन सेंटर जाने से साफ मना कर दिया। इस दौरान लोगों ने पदाधिकारियों के साथ अपशब्द का भी प्रयोग कर दिया।

उक्त लोगों ने लगभग एक घंटे तक पदाधिकारियों को घेर रखा। जबकि पदाधिकारी लोगों को काफी समझाने का प्रयास किया। बाद में लोगों ने पदाधिकारियों जाने तो दिया। लेकिन मो खालिद और मो युनूस क्वारेंटाइन सेंटर जाने से इनकार कर दिया। लोगों का कहना था कि मो खालिद की कोरोना जांच दो बार हो चुका है। फिर भी प्रशासन हमलोगों को परेशान करने आते हैं। जबकि पदाधिकारी प्राप्त दिशा निर्देश के अनुसार प्रखंड क्षेत्र में कोरोना वायरस से बचाव हेतु प्रयासरत है। इस बावत थानाध्यक्ष किशोर कुमार ने बताया सरकारी कार्यों में बाधा उत्पन्न करने को लेकर इपीडिम्कि डीजीज एक्ट के तहत चार नामजद और पचास अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई।


Spread the news