मधेपुरा : स्वास्थ्य प्रबंधक ने प्रखंड नाजीर पर लागया दुर्व्यवहार  का आरोप, प्राथमिकी दर्ज

728x90
Spread the news

वसीम अख्तर
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : कोरोना को जिले के पुरैनी लेकर प्रखंड कार्यालय परिसर में चल रहे समीक्षा बैठक के दौरान पुरैनी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में पदस्थापित स्वास्थ्य प्रबंधक अरूण कुमार और प्रखंड नाजीर अभिमन्यु कुमार के बीच हुई वाद विवाद और धक्का मुक्की के मामले में स्वास्थ्य प्रबंधक ने पुरैनी थाना में प्रखंड नाजिर के खिलाफ एससी एसटी एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज कराया है।

इस बाबत मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार की दोपहर को पुरैनी प्रखंड मुख्यालय स्थित प्रखंड विकास पदाधिकारी के कार्यालय में कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर समीक्षात्मक बैठक का आयोजन होना था जिसमें प्रखंड के कई वरीय पदाधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद थे। इसी दौरान सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के स्वास्थ्य प्रबंधक अरुण कुमार एवं प्रखंड नजीर अभिमन्यु कुमार के बीच हो रही सहज बातचीत ने अचानक ही झगडे का रूप ले लिया। दोनो ही कर्मचारियों के बीच अधिकारों की बात के साथ साथ काफी देर तक गाली गलौज का दौर चलता रहा। जिसके बाद स्वास्थ्य प्रबंधक अरुण कुमार ने थाना में आवेदन देकर उक्त प्रखंड नाजिर अभिमन्यु कुमार के खिलाफ अनुसूचित जाति जनजाति उत्पीड़न के तहत मामला दर्ज करवाया है।

थाना में दिए गए आवेदन में अरुण कुमार ने बताया कि वह कोरोना वायरस की समीक्षात्मक बैठक में हिस्सा लेने के लिए प्रखंड कार्यालय गए हुए थे, जहां नाजिर अभिमन्यु कुमार शराब के नशे में धुत्त होकर उनके साथ अभद्र व्यवहार किया और गाली गलौज करते हुए धक्का मुक्की शुरू कर दी, जिसमें मौका पाकर अभिमन्यु कुमार गले में पड़ा सोने का चैन ले लिया और पॉकेट से ₹1000 भी निकाल लिए साथ ही जातिसूचक शब्द का प्रयोग करते हुए गाली गलौज किया ।

इस बाबत थानाध्यक्ष सुबोध यादव ने बताया की दिये गये आवेदन पर प्राथमिकी दर्ज कर लिया गया है।


Spread the news