सुपौल : छातापुर में भीषण अग्निकांड, 15 घर सहित 20 लाख की संपत्ति जलकर राख

728x90
Spread the news

रियाज खान की रिपोर्ट :

छातापुर/सुपौल/बिहार : छातापुर प्रखण्ड के बलुआ थाना अंतर्गत लक्ष्मीनियाँ पंचायत स्थित वार्ड नम्बर 2 खड़ी टोला में बुधवार की सुबह खाना बनाने के क्रम में लगी आग से 15 घर सहित 20 लाख की संपत्ति जलकर राख हो गई।

जानकारी अनुसार मो सजीमुद्दीन की पत्नी खाना बना रही थी। इसी क्रम में चूल्हे से निकली चिंगारी से पूरी घर में आग लग गई और देखते ही देखते आग ने पूरे घर को अपनी आगोश में ले लिया। जब तक गृह स्वामी के आवाज पर आस-पड़ोस के लोग इकट्ठा हुए तब तक आग ने विकराल रूप धारण करते हुए आस-पड़ोस के 15 घरों को अपनी चपेट में ले लिया। स्थानीय लोगों ने तत्काल आग लगने की सूचना स्थानीय प्रशासन एवं अग्निशामक को दी और गांव के सभी लोग इकट्ठा होकर खुद से आग बुझाने का प्रयास करने लगे, कुछ देर बाद अग्निशामक कर्मी पहुंचे और काफी जद्दोजहद के बाद आग पर काबू पाया जा सका। लेकिन तब तक आग में जलकर 15 घर सहित 20 लाख से अधिक की संपत्ति जलकर राख हो चुकी थी।

आग लगने से सजीमुद्दीन के तीन घर, नसीमुद्दीन के चार घर, हासिमुउद्दीन के एक घर, महिब खान के दो घर, निजामुद्दीन के 2 घर, महीउद्दीन के 2 घर सहित घर में रखे कपड़े, बर्तन, पैसे जरूरी कागजात,लकड़ी के सभी समान एवं सभी तरह की वस्तुएं जलकर खाक हो गयी। साथ ही साथ अग्निकांड में दो बकरी सहित एक गाय भी झुलस गई। जहां दोनों बकरियों की मौत हो गई। सभी पीड़ित बाहर में मजदूरी करते हैं और आर्थिक रूप से काफी गरीब हैं। अग्नि कांड पीड़ित के सजीमुद्दीन के घर में दो लाख नगद रुपए नगद रुपए रखे हुए थे  जो जलकर पूरी तरीके खाक हो गए। पीड़ित ने बताया कि वह जमीन खरीदने के लिए लोगों से कर्ज के तौर पर रुपए लिए थे ।

बहरहाल अग्निकांड के सभी पीड़ित का रो रो कर कर बुरा हाल है, आग लगने के कुछ देर उपरांत स्थानीय मुखिया ने इसकी सूचना अंचलाधिकारी छातापुर दी। छातापुर अंचलाधिकारी ने बताया कि अग्निकांड में पीड़ित सभी परिवारों को सरकार की तरफ से अबिलम्ब मदद मुहैया कराई जाएगी।

वहीं आग लगने के कुछ देर उपरांत राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय महासचिव संजीव मिश्रा ने घटनास्थल पर जाकर पीड़ित परिवारों की मदद की। उनके द्वारा सभी पीड़ित परिवारों को 2100 नगद, 50 किलो अनाज, कंबल, एवं खाने-पीने की अन्य वस्तुएं प्रदान की गई। उन्होंने बताया कि आग लगने से इतने परिवारों की हुई क्षति की भरपाई नहीं किया जा सकता। बावजूद इसके मैं सरकारी स्तर से सबों को तुरंत सुविधा पहुंचाने की हार संभव कोशिश करूंगा ।


Spread the news