मधेपुरा : आवास सहायक पर पैसा लेकर आवास देने का ग्रामीणों ने लगाया आरोप

Spread the news

विज्ञापन
कौनैन बशीर
वरीय उप संपादक

मधेपुरा/बिहार :  जिले के उदाकिशुनगंज प्रखंड क्षेत्र के बीड़ी रणपाल पंचायत के आवास सहायक सहित बिचोलियों द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना में लाभार्थियों से हजारों की वसूली किये जाने का मामला प्रकाश में आया है। बताया जाता है कि प्रखंड क्षेत्र के कई लाभार्थी के नाम पर आवंटित आवास पैसे लेकर दूसरे को उपलब्ध कराया जा रहा है।

मिली जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री आवास के नाम पर हो रहे लूट-खसोट का मामला पंचायत से लेकर प्रखंड के पदाधिकारियों तक के संज्ञान में है। वही प्रखंड के बीड़ीरणपाल पंचायत में विशेषकर लाभार्थियों से आवास सहायक द्वारा मोटी रकम वसूली की जाने की बात सामने आई है। इस संबंध में गांव के राकेश शर्मा, प्रमोद पोद्दार, सदानंद पासवान, शंभु पोद्दार, मानती देवी, राजा चौधरी, परमेश्वर राय, शंभू मंडल, पिंटू यादव, संतोष मंडल, अनिल मंडल, अशोक यादव, प्रमोद मंडल सहित दर्जनों ग्रामीणों ने आवास सहायक के विरुद्ध अनुमंडल पदाधिकारी से लेकर मुख्यमंत्री तक को आवेदन देते हुए आवंटित आवास दूसरे व्यक्ति को देने का आरोप लगाया है।

स्थानीय ग्रामीणों ने अनुमंडल से लेकर मुख्यमंत्री तक को भेजे गए आवेदन में कहा गया है कि बीडीरणपाल पंचायत अंतर्गत वर्ष 2019-20 में वर्तमान सहायक जसवंत कुमार ने पंचायत के बिचौलियों के मिलीभगत से रंभा देवी को 2001-02 में,झकस शर्मा को 2002-03 में रिंकू देवी को 2003-04 में,लुखरी देवी एवं रमेश साह को 2007-08 में,चंदेश्वरी शर्मा एवं संजू देवी को 2010-11 में,फूलों शर्मा, रूबी देवी एवं बीबी मरियम खातून को 2011-12 में एवं धुरो देवी को वर्ष 2012-13 में हीं पक्का मकान एवं पूर्व प्राप्त लाभुकों को पुनः रिश्वत लेकर प्रधानमंत्री आवास का लाभ दिया गया है।

इस बाबत एसडीएम एसजेड हसन ने बताया कि आवास सहायक के खिलाफ ग्रामीणों द्वारा दिए गए आवेदन की कराई जाएगी जाँच,जांचोपरान्त गलत पाये जाने पर कार्यवाही होगी ।


Spread the news
advertise